close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फिर सामने आई दिल्ली कांग्रेस की कलह, शीला के फैसले पर पीसी चाको ने उठाए सवाल

बताया जा रहा है कि पीसी चाको ने पत्र में लिखा है कि 14 जिला कांग्रेस कमेटियों के पर्यवेक्षक और 280 ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों के पर्यवेक्षकों की नियुक्ति उनसे बिना विचार-विमर्श किए की गई है.

फिर सामने आई दिल्ली कांग्रेस की कलह, शीला के फैसले पर पीसी चाको ने उठाए सवाल
इससे पहले 29 जुलाई को पीसी चाको ने शीला दीक्षित द्वारा पार्टी की सभी 280 ब्लॉक स्तरीय समितियां भंग किये जाने के अगले ही दिन इस फैसले को पलट दिया था.

नई दिल्ली: दिल्ली कांग्रेस में जारी कलह और मतभेद अब खुलकर सामने आने लगे हैं. हाल ही में दिल्ली कांग्रेस प्रमुख शीला दीक्षित के एक फैसले को पलटने के बाद एआईसीसी में राष्ट्रीय राजधानी मामलों के प्रभारी पीसी चाको ने एक बार फिर से पूर्व मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, पीसी चाको ने शीला दीक्षित को पत्र लिखकर नाराजगी जाहिर की है. इसके साथ ही उन्होंने शीला दीक्षित द्वारा 14 जिला कांग्रेस कमेटियों के पर्यवेक्षक और 280 ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों के पर्यवेक्षकों की नियुक्ति पर सवाल उठा दिए हैं.

 

 

बताया जा रहा है कि पीसी चाको ने पत्र में लिखा है कि 14 जिला कांग्रेस कमेटियों के पर्यवेक्षक और 280 ब्लॉक कांग्रेस कमेटियों के पर्यवेक्षकों की नियुक्ति उनसे बिना विचार-विमर्श किए की गई है. इसके साथ ही उन्होंने दिल्ली कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति पर भी सवाल उठाए हैं. वहीं, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमटी के तीन कार्यकारी अध्यक्षों हारुन यूसुफ, देवेंदर यादव और राजेश लिलोथिया ने राहुल गांधी, दिल्ली प्रभारी पीसी चाको और पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल को पत्र लिखकर कहा है कि यह एकतरफा निर्णय बिना उन्हें बताए लिए गए हैं.

बता दें कि इससे पहले 29 जुलाई को पीसी चाको ने शीला दीक्षित द्वारा पार्टी की सभी 280 ब्लॉक स्तरीय समितियां भंग किये जाने के अगले ही दिन इस फैसले को पलट दिया था. इस कदम के बाद से ही दोनों नेताओं के बीच मतभेद के संकेत मिलने लगे थे. पार्टी सूत्रों ने बताया था कि दिल्ली के पार्टी मामलों के प्रभारी चाको ने ब्लॉक समितियां को भंग करने पर स्थगन लगा दिया था और अपने आदेश की प्रतियां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एवं दीक्षित को भेज दीं थी.