2020 में भारत आने वाला है अभेद मिसाइल सिस्टम, मिसाइलों को हवा में करेगा खत्म

अगर कोई हमारी सीमा में आसमान से दाखिल होने की कोशिश करेगा, वो हवा में ही खत्म कर दिया जाएगा.  

2020 में भारत आने वाला है अभेद मिसाइल सिस्टम, मिसाइलों को हवा में करेगा खत्म

नई दिल्ली: वायुसेना ने साल 2019 में पाकस्तान के अंदर घुसकर आतंकिस्तान को तबाह कर दिया. 2020 में भारत आने वाला है एस-400. वो मिसाइल सिस्टम जिसके आने के बाद भारत को कर्ण का सुरक्षा कवच मिल जाएगा. यानी कोई भी इसे भेद नहीं पाएगा. कोई हमारी सीमा में आसमान से दाखिल नहीं हो पाएगा और जो कोशिश करेगा, वो हवा में ही खत्म कर दिया जाएगा. यह फायटर जैट को आसमान में मार गिराता है. मिसाइलों को हवा में खत्म कर देता है. हेलीकॉप्टर पर वार जिसके लिए मामूली बात है. राडार से अदृश्य विमान पर भी अटैक की गारंटी ले सकता है. 2020 में हिंदुस्तान की सेना के पास वो सबसे घातक हथियार आने वाला है. S-400 भारतीय सेना के लिए 2020 में सबसे बड़ी ताकत बनने वाली है. 

भारत की हवाई सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए रूस से भारत का ब्रह्मास्त्र S400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम आ रहा है. जिस दिन भारतीय वायुसेना के पास S 400 आ गया तो फिर भारत के आसमान में दुश्मन तो छोड़िए परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा. इस हथियार का नाम है S-400 Triumf जो रूस का Next-Generation एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम है. इस एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम के आने से ना सिर्फ भारत की आसमानी ताकत में इज़ाफा होगा...बल्कि भारत की हवाई सीमा...पहले से ज़्यादा सुरक्षित हो जाएगी. 

-S-400 Triumf एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम तीन तरह के अलग-अलग मिसाइल दाग सकता है. 
- ये कम दूरी से लेकर लंबी दूरी तक मंडरा रहे किसी भी एरियल टार्गेट को पलक झपकते ही हवा में नष्ट कर सकता है. 
- इतना ही नहीं. आसमान में फुटबॉल के आकार की भी कोई चीज़ अगर मंडराती हुई दिखाई देगी तो ये मिसाइल सिस्टम उसे डिटेक्ट करके नष्ट कर सकता है. 
- ये मिसाइल सिस्टम पहले अपने टार्गेट को स्पॉट करता है फिर उसे पहचानता है. 
- पहचान हो जाने के बाद मिसाइल सिस्टम उसे मॉनिटर करना शुरू कर देता है और उसकी लोकेशन ट्रैक करता है. 
- ख़ास बात ये भी है कि इस सिस्टम को हमले के लिए तैयार होने में 5 मिनट से ज़्यादा का वक्त नहीं लगता.  

सबसे दिलचस्प बात ये है कि S-400 Triumf एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम को सेना के तीनों ही अंग यानी वायुसेना, जलसेना और थलसेना की यूनिट्स में शामिल किया जा सकता है. अभी ये एयर डिफेंस सिस्टम सिर्फ़ रूस की सेना के पास है. रूसी सेना की 12 Anti-Aircraft Rocket Regiment की 25 बटालियन में एस-400 के 200 लॉन्चर तैनात हैं. 

ये भी देखें: 

रूस ने S-400 चीन को बेचा है और अब जब भारत के पास भी S-400 आ जाएगा तो चीन भारत को तो आंख नहीं दिखा पाएगा. साथ ही साथ पाकिस्तान के लिए ये सबसे बुरी ख़बर साबित होगी क्योंकि साल 2020 PoK की आज़ादी का साल होने वाला है.