close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फिर खुलेंगे सबरीमाला मंदिर के कपाट, 1500 से ज्‍यादा पुल‍िस अध‍िकारी तैनात

जिला पुलिस अधीक्षक टी. नारायण के मुताबिक, मंदिर कस्बे में 1,500 पुलिस अधिकारियों को तैनात कर दिया गया है और ये छह नवंबर मध्यरात्रि तक यहां तैनात रहेंगे, जब तक मंदिर फिर से बंद नहीं हो जाता है.

फिर खुलेंगे सबरीमाला मंदिर के कपाट, 1500 से ज्‍यादा पुल‍िस अध‍िकारी तैनात

सबरीमाला : सबरीमाला मंदिर के कपाट 5 नवंबर को फिर से खोले जाएंगे. केरल के सबरीमाला कस्बे को शनिवार को पूरी तरह पुलिस ने अपने नियंत्रण में ले लिया. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यहां स्थित प्रसिद्ध भगवान अयप्पा मंदिर पांच नवंबर को पूरे दिन के लिए खुलेगा, जिसके कारण कस्बे को नियंत्रण में ले लिया गया है. पथनामथित्ता जिला पुलिस अधीक्षक टी. नारायण के मुताबिक, मंदिर कस्बे में 1,500 पुलिस अधिकारियों को तैनात कर दिया गया है और ये छह नवंबर मध्यरात्रि तक यहां तैनात रहेंगे, जब तक मंदिर फिर से बंद नहीं हो जाता है.

उन्होंने कहा कि फिलहाल किसी महिला ने मंदिर में प्रवेश करने का अनुरोध नहीं किया है. नारायण ने कहा, "अगर कोई अनुरोध करता है, तो पुलिस शीर्ष अदालत के फैसले के मुताबिक आगे बढ़ेगी. श्रद्धालुओं के अलावा किसी को भी मंदिर के प्राधिकृत इलाके में जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी."

सबरीमाला मुद्दे पर बोले राहुल गांधी,'मेरी निजी सोच कांग्रेस की केरल इकाई से अलग'

सुरक्षा इंतजामों पर अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अनिल कांत द्वारा निगरानी रखी जाएगी. पुलिस के मुताबिक, पांबा आधार शिविर से मंदिर जाने वाले रास्ते और मंदिर के गर्भ-गृह के करीब इलाके में किसी को भी जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी. मीडिया के लिए भी बंदिशें सख्त कर दी गई हैं और उन्हें केवल पांच नवंबर को ही मंदिर कस्बे पहुंचने की इजाजत दी जाएगी. शनिवार तक पुलिस ने 536 मामले दर्ज किए हैं और 3,719 लोगों को गिरफ्तार किया है. इनमें से केवल करीब 100 लोग ही जेल में हैं, जबकि बाकियों को जमानत मिल गई है.

सरकार ने वि‍रोध को रोकने के  लि‍ए न‍िकाला ये तरीका
सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर चल रहा विवाद थमने के नाम नहीं ले रहा है. इन सबके बीच अब केरल पुलिस ने दर्शन के लिए आने वाले भक्तों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा लागू करने का निर्णय लिया है. इसके बाद अब सबरीमाला में दर्शन करने के लिए आने वाले भक्तों को पहले रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके बाद ही वे मंदिर में दर्शन करने जा सकेंगे. केरल पुलिस ने इस साल से यह सुविधा लागू करने का निर्णय लिया है. इसे 'डिजिटाइज्ड क्राउड मैनेजमेंट प्रणाली' का नाम दिया गया है.

दर्शन करने के लिए पहले कराना होगा रजिस्ट्रेशन
सबरीमाला में दर्शन के लिए अब आपको sabarimalaq.com पोर्टल पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इस ऑनलाइन पोर्टल पर भक्त मंदिर में दर्शन की तारीख और समय चुन सकते हैं. इस पोर्टल पर निलक्कल और पांबा के लिए बस टिकट भी बुक की जा सकती है. यह बुकिंग 48 घंटों के लिए मान्य होगी. गौरतलब है कि सबरीमाला आंदोलन में हिस्सा लेने वाले प्रदर्शनकारियों पर अपनी कार्रवाई जारी रखते हुए केरल पुलिस ने राज्यभर में बीते सोमवार (29 अक्टूबर) तक 3000 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया था. पुलिस महानिदेशक लोकनाथ बेहरा ने सोमवार को एक बयान में कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के क्रियान्वयन के खिलाफ प्रदर्शन और हिंसा के सिलसिले में दर्ज किए गए 529 मामलों में 3505 लोग गिरफ्तार किए गए हैं. बता दें सुप्रीम कोर्ट ने सभी उम्रवर्ग की महिलाओं को भगवान अयप्पा के मंदिर में प्रवेश की इजाजत दी है.input : IANS