साक्षी महाराज को फिर मिला उन्नाव से टिकट, अमेठी से स्मृति ईरानी देंगी राहुल को टक्कर

बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों की पहली सूची गुरुवार को जारी कर दी. 

साक्षी महाराज को फिर मिला उन्नाव से टिकट, अमेठी से स्मृति ईरानी देंगी राहुल को टक्कर
.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों की पहली सूची गुरुवार को जारी कर दी. चार बार सांसद रह चुके साक्षी महाराज को उन्नाव और स्मृति ईरानी को अमेठी लोकसभा सीट से टिकट दिया गया है. स्मृति ईरानी ने 2014 के चुनाव में अमेठी सीट से राहुल को कड़ी टक्कर दी थी. हालांकि वह जीत नहीं सकी थीं, लेकिन उन्हें मिले समर्थन की वजह से राहुल की जीत का अंतर वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव में तीन लाख 70 हजार मतों के मुकाबले भारी गिरावट के साथ एक लाख सात हजार वोट ही रह गया था. पराजय के बाद भी अमेठी में स्मृति ने लगातार विभिन्न विकास योजनाओं को धरातल पर उतारती नजर आयी हैं.

वहीं साक्षी महाराज पर बीजेपी ने एक बार फिर विश्वास जताते हुए उन्हें उन्नाव से टिकट दिया है. इसके साथ ही उन तमाम खबरों पर विराम लग गया जिसमे कहा गया था कि उन्नाव से साक्षी महाराज का टिकट बीजेपी काट सकती है. टिकट कटने पर साक्षी महाराज ने अप्रत्यक्ष रूप से धमकी देते हुए चेतावनी दी थी कि कि अगर इस सीट से उन्हें दोबारा टिकट नहीं दिया गया तो इसका परिणाम पार्टी के पक्ष में सुखद नहीं होगा.

चार बार सांसद रह चुके साक्षी ने कहा था, 'अगर मेरे अलावा किसी और को उन्नाव से चुनाव मैदान में उतारा गया तो संभव है भाजपा के पक्ष में परिणाम सुखद नहीं हों.' बीजेपी सांसद (63) ने कहा कि इस संबंध में उन्होंने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय को एक पत्र भी लिखा था जो सोशल मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में वायरल हो गया.

जिस पर साक्षी महाराज ने इस पत्र के मीडिया में लीक होने पर हैरानी जताते हुए कहा था कि यह पत्र सांसद के लेटरहेड पर टाइप किया हुआ था और इस बात की जांच होनी चाहिए कि आखिर यह पत्र लीक कैसे हुआ?  उन्होंने कहा, 'टिकट तो मेरा पक्का है, मुझे इस बात का पूरा विश्वास है.'

उन्होंने कहा था, 'उन्नाव से मुझे टिकट नहीं देने के संबंध में अगर पार्टी कोई निर्णय लेती है तो इससे प्रदेश और देश के मेरे करोड़ों कार्यकर्ताओं के आहत होने की पूरी संभावना है, जिसका परिणाम भी सुखद नहीं होगा.'