close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

98% गरीब सवर्णों को केवल 10% आरक्षण, 2% अमीर सवर्णों को 40% आरक्षण: सपा

रामगोपाल यादव ने कहा कि इस वक्‍त लोकसभा चुनाव की वजह से सरकार यह बिल लाई है.

98% गरीब सवर्णों को केवल 10% आरक्षण, 2% अमीर सवर्णों को 40% आरक्षण: सपा

नई दिल्‍ली: सपा नेता रामगोपाल यादव ने राज्‍यसभा में आर्थिक आरक्षण बिल का समर्थन करते हुए सवालिया लहजे में पूछा कि सरकार इस बिल को पहले भी ला सकती थी. लेकिन इस वक्‍त लोकसभा चुनाव की वजह से सरकार यह बिल लाई है. उन्‍होंने यह भी कहा कि 98% गरीब सवर्णों को केवल 10% आरक्षण दिया जा रहा है जबकि 2% अमीर सवर्णों को 40% आरक्षण दिया जा रहा है.

इसके साथ ही रामगोपाल यादव ने कहा कि मानसिक भावना को बदले बिना नतीजे नहीं आएंगे. इस संदर्भ में उन्‍होंने बाबा साहब भीमराव आंबेडकर का उदाहरण देते हुए कहा कि एक बार उनके जाने के बाद कुर्सी को धोया गया.

इससे पहले आर्थिक आरक्षण बिल के राज्‍यसभा में पेश होने के बाद दोपहर दो बजे से इस पर चर्चा जारी है. चर्चा की शुरुआत करते हुए बीजेपी सांसद प्रभात झा ने कहा कि लंबे समय से आर्थिक आधार पर आरक्षण बिल का इंतजार था. पीएम मोदी ने अगड़े समाज की चिंता की. मोदी सरकार सारे काम गरीबों के हित में कर रही है. मोदी सरकार ने राष्‍ट्रहित में फैसला लिया. उन्‍होंने कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि राहुल गांधी आर्थिक आरक्षण बिल पर बोलने की हिम्‍मत दिखाएं.

राज्‍यसभा में आर्थिक आरक्षण बिल पर चर्चा जारी, आनंद शर्मा बोले- हम खिलाफ नहीं है

इस पर कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने आपत्ति जताते हुए कहा कि किसी भी सदस्‍य को ऐसे किसी दूसरे सदस्‍य पर टिप्‍पणी नहीं करनी चाहिए जोकि इस सदन का सदस्‍य नहीं हैं. राहुल गांधी लोकसभा सांसद हैं. आनंद शर्मा ने कहा कि लोगों को भ्रमित करने का काम ना किया जाए. हमारी पार्टी इस विधेयक के खिलाफ नहीं है. लेकिन हम इसकी टाइमिंग को लेकर कुछ सवाल सदन में करना चाहते हैं.

राहुल गांधी आर्थिक आरक्षण बिल पर बोलने की हिम्‍मत दिखाएं: बीजेपी सांसद प्रभात झा

आनंद शर्मा ने कहा कि 2014 में देश के लोगों को सब्जबाग दिखाए गए थे. इस बात को मत भूलिए कि आपने क्या कहा था? क्या सबका साथ सबका विकास सही मायने में हो रहा है? अच्छे दिन का इंतजार अभी तक हो रहा है. कांग्रेस ने सवाल किया कि बीजेपी यह बिल 4 साल 7 महीने बाद क्यों लाई है? कांग्रेस ने कहा कि आप विधानसभा चुनाव 5-0 से हार गए तो आपने ये फैसला कर लिया? अभी तो छोटा संदेश दिया है, बड़े संदेश का इंतजार करें वो भी मिलेगा. 

8 लाख से कम आदमनी वाले गरीब सवर्णों को मिलेगा 10% आरक्षण, जानिए क्‍या होंगी लाभ की शर्तें?

पहले इस बिल पर चर्चा के लिए तीन घंटे का समय निर्धारित किया गया था लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर 8 घंटे कर दिया गया. हालांकि आज राज्‍यसभा में सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा किया. दरअसल विपक्ष नागरिकता मामले पर नार्थ ईस्ट में हो रहे बवाल पर सरकार से जवाब मांग रहा था. इस कारण सदन की कार्यवाही पहले 12 बजे तक स्‍थगित करनी पड़ी और उसके बाद दोपहर दो बजे तक स्‍थगित कर दी गई थी.