Breaking News
  • देश में कोरोना से अब तक 117 मौतें, पिछले 24 घंटे में 8 मरीजों की मौत: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय
  • देशभर में कोरोना मरीजों के लिए कोरोना सेंटर बनेंगे
  • महबूबा मुफ्ती को सरकारी निवास से घर शिफ़्ट किया गया लेकिन वो PSA के तहत रहेंगी नजरबंद
  • तबलीगी जमात की कारगुज़ारियों के खिलाफ मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, जमात की एक्टिविटी पर रोक लगाने की मांग
  • BSF ने अपने जवानों से कहा- 21 अप्रैल तक जहां हैं, वहीं रहें

सरकार विचारधारा से नहीं, कॉमन मिनिमम प्रोग्राम से चलती है: संजय राउत

तीनों की विचारधाराएं अलग हो सकती हैं लेकिन सरकार किसी विचारधारा पर नहीं बल्कि कॉमन मिनिमम प्रोग्राम से चलती है.   

सरकार विचारधारा से नहीं, कॉमन मिनिमम प्रोग्राम से चलती है: संजय राउत

मुंबई: कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने सोमवार को एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस ने मुसलमानों के हित के लिए ही गठबंधन सरकार का हिस्सा बनना स्वीकर किया है. इस मुद्दे पर विवाद बढ़ता देख शिवसेना नेता संजय राउत ने सफाई दी है. राउत ने कहा कि यह तीन पार्टियों की सरकार है. तीनों की विचारधाराएं अलग हो सकती हैं लेकिन सरकार किसी विचारधारा पर नहीं बल्कि कॉमन मिनिमम प्रोग्राम से चलती है.   

शिवसेना नेता ने कहा जब गठबंधन सरकार बनती है तो एक समन्वय समिति की स्थापना होती है. इससे सरकार को काम करने में आसानी होती है. उन्होंने कहा कि हमारी तीन पार्टियों की सरकार है और तीनों की ही विचारधाराएं अलग-अलग हैं. राउत ने कहा कि सरकार हिंदू या मुस्लिम के लिए नहीं बल्कि कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत काम करेगी. उन्होंने कहा विवादास्पद मुद्दों पर भी गौर किया जाएगा. हालांकि उन्होंने अशोक चव्हाण के बयान पर कुछ भी नहीं कहा.

आपको बता दें कि संसद में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) की जंग हार चुकी कांग्रेस अब सड़कों और रैलियों में इसे जीतने की कोशिश कर रही है. इसके लिए वो मुसलमानों को भड़काने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही. सोमवार को महाराष्ट्र के नांदेड़ में एक रैली को संबोधित करते हुए अशोक चव्हाण ने कहा था कि महाराष्ट्र में कांग्रेस ने मुसलमानों के हित के लिए ही गठबंधन सरकार का हिस्सा बनना स्वीकर किया है. चव्हाण के इस बयान को लेकर अब विवाद खड़ा हो गया है. 

लाइव टीवी देखें