SCO Council Meet 2020: उपराष्ट्रपति बोले- आतंकवाद सबसे बड़ी समस्या

पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ इशारा करते हुए वेंकैया नायडू (Venkaiah Naidu)  ने कहा कि सीमा पार आतंकवाद हम सबके सामने बड़ी चुनौती है.

SCO Council Meet 2020: उपराष्ट्रपति बोले- आतंकवाद सबसे बड़ी समस्या
शंघाई सहयोग संगठन के सदस्य देशों की बैठक की अध्यक्षता करते उपराष्ट्रपति.

ई दिल्ली: शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के सदस्य देशों के प्रमुखों की 19वीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू (vice president Venkaiah Naidu) ने पाकिस्तान (Pakistan) समर्थित सीमा पार आतंकवाद का मुद्दा उठाया. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा, ‘हमारे सामने सबसे महत्वपूर्ण चुनौती आतंकवाद है, विशेष रूप से सीमा पार आतंकवाद. इस समस्या का सामूहिक रूप से मुकाबला करने की आवश्यकता है.

पाकिस्तान पर निशाना
पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ इशारा करते हुए वेंकैया नायडू (Venkaiah Naidu)  ने कहा, ‘हम आतंकवाद को लेकर विशेष रूप से उन देशों के बारे में चिंतित हैं जो विदेश नीति का आतंकवाद के लिए एक साधन के रूप में लाभ उठाते हैं. ऐसा करना पूरी तरह से आत्मा, आदर्शों और शंघाई सहयोग संगठन के चार्टर के खिलाफ है.’

पहली बार भारत कर रहा मेजबानी
बता दें, 2017 में भारत के SCO का सदस्य बनने के बाद यह पहला मौका है, जब SCO नेताओं की इतनी बड़ी बैठक की मेजबानी भारत ने की है. COVID-19 महामारी के कारण इस बार शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों के प्रमुखों की 19वीं बैठक वर्चुअल की जा रही है.

यह भी पढ़ें: वीगर मुसलमानों पर China के अत्याचारों के खिलाफ Nepal में प्रदर्शन

भारत के उपराष्ट्रपति ने पाकिस्तान द्वारा की गई जानबूझ कर बैठक में द्विपक्षीय मुद्दे उठाने की कोशिश उजागर की. उन्होंने कहा, ‘यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि एससीओ में जानबूझकर द्विपक्षीय मुद्दों को लाने का प्रयास किया गया है. एससीओ सदस्य देशों की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता व एससीओ चार्टर के सुस्थापित सिद्धांतों और मानदंडों का जानबूझकर उल्लंघन किया गया है.’

पाकिस्तान की हरकत
बता दें, पाकिस्तानी एनएसए (NSA Pakistan) द्वारा इस साल की शुरुआत में एससीओ की आभासी बैठक में गलत नक्शा पेश किया गया. भारत की गलत सीमाएं दिखाईं गईं. पाकिस्तान की इस हरकत पर रूस ने भी आपत्ति जाहिर की.

LIVE TV
 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.