इस साल के अंत तक आ सकती है बच्चों के लिए Corona Vaccine, एक्सपर्ट पैनल ने की Covaxin के ट्रायल की सिफारिश

हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने कोवैक्सीन टीके की 2 साल से 18 साल के बच्चों में सुरक्षा और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने समेत अन्य चीजों का आकलन करने के लिए परीक्षण के दूसरे/तीसरे चरण की अनुमति देने का अनुरोध किया गया था.

इस साल के अंत तक आ सकती है बच्चों के लिए Corona Vaccine, एक्सपर्ट पैनल ने की Covaxin के ट्रायल की सिफारिश
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है.  इस बीच एक अच्छी खबर है कि जल्द ही 2 से 18 साल के बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन का ट्रायल (Corona Vaccine Trail) शुरू किया जा सकता है. बता दें कि हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने 2 से 18 साल के बच्चों पर वैक्सीन के ट्रायल की अनुमति मांगी थी.

एक्सपर्ट पैनल ने की ट्रायल की मंजूरी देने की सिफारिश

बता दें कि एक विशेषज्ञ समिति ने मंगलवार को 2-18 आयुवर्ग के लिए भारत बायोटेक के कोविड-19 टीके कोवैक्सीन के दूसरे/तीसरे चरण के लिए परीक्षण की सिफारिश की थी. यह ट्रायल AIIMS दिल्ली, AIIMS पटना और मेडिट्रिना इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज नागपुर में 525 विषयों पर किया जाएगा.

इस साल के अंत तक आएगी बच्चों के लिए वैक्सीन

ट्रायल की अनुमति मिलने के बाद भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने दावा किया कि सब कुछ ठीक रहा तो 2 वर्ष से 18 वर्ष के बच्चों के लिए वैक्सीन इस साल के आखिर तक आ सकती है. बता दें कि भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने कोवैक्सीन टीके की दो साल से 18 साल के बच्चों में सुरक्षा और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने समेत अन्य चीजों का आकलन करने के लिए परीक्षण के दूसरे/तीसरे चरण की अनुमति देने का अनुरोध किया गया था.

ये भी पढ़ें- अभी जल्दी राहत नहीं! एक्सपर्ट ने बताए, भारत में कब खत्म होगी कोरोना की दूसरी लहर

डेटा मॉनिटरिंग बोर्ड को देना होगा ट्रायल डेटा

सूत्रों के मुताबिक एक्सपर्ट्स कमेटी ने कंपनी को तीसरे फेज के ट्रायल के लिए CDSCO से अनुमति लेने से पहले डेटा एंड सेफ्टी मॉनिटरिंग बोर्ड (DSMB) को दूसरे फेज का सुरक्षा डेटा मुहैया करने का निर्देश दिया है. इससे पहले 24 फरवरी को हुई बैठक में प्रस्ताव पर विचार-विमर्श किया गया था और भारत बायोटेक को रिवाइज्ड क्लिनिकल ट्रायल प्रोटोकॉल पेश करने का निर्देश दिया गया था.

18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को लग रही है वैक्सीन

बता दें कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के सहयोग से भारत बायोटेक (Bharat Biotech) द्वारा स्वदेशी रूप से विकसित कोवैक्सिन (Covaxin) टीके का उपयोग देश में वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए 18+ के लिए किया जा रहा है.

अमेरिका में 12 से 15 साल के बच्चों को वैक्सीन को मंजूरी

इससे पहले सोमवार को ही अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (US-FDA) ने 12 से 15 साल के बच्चों के लिए फाइजर-बायोएनटेक (Pfizer-BioNTecch) की कोरोना वैक्सीन को इजाजत दी है. अब तक यह वैक्सीन 16 साल से ज्यादा उम्र वालों को लगाई जा रही थी.

कनाडा ने सबसे पहले दी थी बच्चों को वैक्सीन देने की मंजूरी

इससे पहले कनाडा बच्चों की इस पहली वैक्सीन को इजाजत दे चुका है. ऐसा करने वाला दुनिया का वह पहला देश है. माना जा रहा है कि 12 से 15 साल तक के बच्चों के वैक्सीनेशन से अमेरिका में बड़ी संख्या में स्कूल और समर कैंप खुलने का रास्ता साफ हो जाएगा.

लाइव टीवी

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.