'कश्मीर में जो बंदूक उठाएगा, मारा जाएगा', आतंक के रास्‍ते पर निकले लोगों को भारतीय सेना का सख्‍त संदेश

उन्‍होंने कहा कि हमें देश को बताते हुए यह खुशी हो रही है कि हमने हमने 100 घंटे में जैश ए मोहम्‍मद की लीडरशिप को जम्‍मू-कश्‍मीर में खत्‍म किया. 

 'कश्मीर में जो बंदूक उठाएगा, मारा जाएगा', आतंक के रास्‍ते पर निकले लोगों को भारतीय सेना का सख्‍त संदेश

श्रीनगर/नई दिल्‍ली : पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले और एनकाउंटर को लेकर मंगलवार को भारतीय सेना, सीआरपीएफ और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस ने साझा प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की. इस दौरान लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्‍लन जीओसी, 15वीं कोर ने बताया कि पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर आतंकी हमला जैश-ए-मोहम्‍मद ने किया. इसे पाकिस्‍तान से ऑपरेट किया गया. 

उन्‍होंने कहा कि हमें देश को बताते हुए यह खुशी हो रही है कि हमने हमने 100 घंटे में जैश ए मोहम्‍मद की लीडरशिप को जम्‍मू-कश्‍मीर में खत्‍म किया. हमने जेईएम के तीन टॉप आतंकी मार गिराए.

लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्‍लन ने कहा कि कश्‍मीरी समाज में सभी मां अच्‍छा रोल निभा रही हैं. हम उनसे अनुरोध करते हैं कि वह अपने आतंक की राह पर चल पड़े अपने बेटों को वापस आने के लिए कहें. उनसे सरेंडर कर देने को कहें. वरना अगर कोई भी हथियार के साथ पकड़ा गया तो वह मारा जाएगा. उन्‍होंने सख्‍त संदेश देते हुए कहा कि कश्‍मीर में जो बंदूक उठाएगा, मारा जाएगा. उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान की सेना और आईएसआई के इशारे पर पुलवामा में हमला हुआ.