close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विधायक और उनके बेटे सहित 11 लोगों की गोली मारकर हत्या मामले में पुलिस के हाथ अब भी खाली!

इस इलाके में घना जंगल है. अबोह मंगलवार को असम के डिब्रुगढ़ से खोन्सा जा रहे थे तभी रास्ते में 12 माइल इलाके में एनएससीएन के संदिग्ध विद्रोहियों ने विधायक, उनके बेटे और नौ अन्य की गोली मारकर हत्या कर दी. 

विधायक और उनके बेटे सहित 11 लोगों की गोली मारकर हत्या मामले में पुलिस के हाथ अब भी खाली!
घटनास्थल खोन्सा से करीब 20 किलोमीटर दूर है. अबोह (41) ने खोन्सा पश्चिम विधानसभा सीट से 2014 में जीत दर्ज की थी.

ईटानगर: सुरक्षा बलों ने अरूणाचल प्रदेश के खोन्सा इलाके के पास विधायक तिरोंग अबोह और 10 अन्य की गोली मारकर हत्या करने वाले संदिग्ध एनएससीएन आतंकवादियों का पता लगाने के लिए सघन तलाश अभियान शुरू किया है. तिराप के उपायुक्त पीएन थुंगोन ने बताया कि सेना, असम राइफल्स और राज्य पुलिस ने अपराध में शामिल अपराधियों को पकड़ने के लिए अभियान शुरू किया है.

सेना ने मंगलवार रात को इलाके में तलाश अभियान के लिए एक हेलीकॉप्टर तैनात किया है. इस इलाके में घना जंगल है. अबोह मंगलवार को असम के डिब्रुगढ़ से खोन्सा जा रहे थे तभी रास्ते में 12 माइल इलाके में एनएससीएन के संदिग्ध विद्रोहियों ने विधायक, उनके बेटे और नौ अन्य की गोली मारकर हत्या कर दी. घटनास्थल खोन्सा से करीब 20 किलोमीटर दूर है. अबोह (41) ने खोन्सा पश्चिम विधानसभा सीट से 2014 में जीत दर्ज की थी और वह नेशनल पीपल्स पार्टी (एनपीपी) के टिकट पर इस बार भी चुनाव लड़ रहे थे.

आतंकियों ने काफिले की गाड़ी को किया आग के हवाले
उपायुक्त ने कहा, ‘‘ अबतक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है, लेकिन सुरक्षा बलों ने इलाके की घेराबंदी करके अभियान तेज कर दिया है.’’ पोस्टमार्टम के बाद मृतकों के शव उनके परिवार के सदस्यों को सौंप दिया गया है. डिब्रुगढ़ के दिनजान में रक्षा सूत्रों ने हत्याकांड में एनएससीएन (आईएम) की संलिप्तता की पुष्टि की और कहा कि हमले में 10-15 आतंकवादी शामिल थे. सूत्रों ने बताया कि आतंकवादियों ने अबोह के काफिले की गाड़ियों को आग लगा दी.

बाल-बाल बची महिला पुलिसकर्मी
हमले में एक पुलिस कर्मी और एक असैन्य व्यक्ति जख्मी हुआ है जबकि एक महिला और पुलिस कर्मी सुरक्षित बच गए. पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस बी के सिंह ने बताया था कि असैन्य व्यक्ति और अबोह के पीएसओ को डिब्रुगढ़ के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. तिराप जिले में हाल फिलहाल में यह दूसरी ऐसी घटना है. इससे पहले, मार्च में एनएससीएन (आईएम) के आतंकवादियों ने अबोह के दो समर्थकों की हत्या कर दी थी.

राजनाथ सिंह ने घटना की निंदा
केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू तथा अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने हमले की निंदा की है. घटना पर हैरानी जताते हुए एनपीपी के अध्यक्ष एवं मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने हमले के लिए जिम्मेदार तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.