close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कर्नाटक बीजेपी के सीनियर नेता आज दिल्ली में कर सकते हैं शाह और नड्डा से मुलाकात

कर्नाटक बीजेपी के सीनियर नेता गुरुवार को दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर सकते हैं. 

कर्नाटक बीजेपी के सीनियर नेता आज दिल्ली में कर सकते हैं शाह और नड्डा से मुलाकात
मुलाकात के दौरान राज्य में पार्टी के अगले कदम पर चर्चा की जाएगी.

नई दिल्ली: कर्नाटक बीजेपी के सीनियर नेता गुरुवार को दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर सकते हैं. मुलाकात के दौरान राज्य में पार्टी के अगले कदम पर चर्चा की जाएगी. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, कर्नाटक बीजेपी के जिन नेताओं को दिल्ली आना है उसमें पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टर, मधुस्वामी, अरविंद लिंबावली और कुछ अन्य नेता शामिल हैं.  

14 माह पुरानी कुमारस्वामी के गिरने के बाद राज्य में बीजेपी येदियुरप्पा के नेतृत्व में सरकार बनाना चाहती है लेकिन केंद्रीय नेतृत्व जल्दबाजी में नहीं है. केंद्रीय नेतृत्व हर तरह से सुनिश्चित कर लेना चाहता है कि परिस्थति पार्टी के अनुकूल हो जाए. पार्टी की नजर राज्य के कई मुद्दों पर है जिसमें एक मुद्दा बागी विधायकों का भी है.  

दरअसल बागी विधायकों और कांग्रेस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट को अभी फैसला सुनाना है इसलिए बीजेपी इस मसले पर कोई जल्‍दबाजी नहीं करना चाहती. केंद्रीय नेतृत्व ने अभी तक राज्य में सरकार गठन को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया है. बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, "हम सरकार के गठन दावा करने वाले हैं. इसमें कोई संदेह नहीं है लेकिन इसमें समय लग सकता है." 

 

केंद्रीय नेतृत्व के सरकार गठन में कोई जल्दबाजी न दिखाने की एक वजह यह भी है कि यदि बागी विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया जाता है या उन्हें अयोग्य घोषित कर दिया जाता है तो राज्य में 15 से ज्यादा सीटों पर उपचुनाव होंगे. ऐसी स्थिति में बीजेपी को बहुमत के लिए और ज्यादा संख्याबल की जरूरत होगी. 

हालांकि, कर्नाटक बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा केंद्रीय नेतृत्व को मनाने में जुटे हैं कि बहुमत जुटाना में कोई बहुत ज्यादा समस्या नहीं आएगी और यदि कोई ऐसी स्थिति आती है तो कांग्रेस - जेडीएस के कई विधायक पार्टी छोड़ना चाहते हैं और बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते हैं. येदियुरप्पा ने दावा किया कि कांग्रेस-जेडीएस के कई नेता उनके संपर्क में हैं.