Zee Rozgar Samachar

भारत में खालिस्तानी आतंकवाद भड़काने की साजिश, पंजाब के सिखों को लुभाने की चाल

प्रतिबंधित आतंकी संगठन सिख फॉर जस्टिस (SFJ) के प्रमुख नेताओं गुरपतवंत सिंह पन्नू और हरदीप सिंह निज्जर की संपत्तियों को NIA कुर्क करने जा रही है. इस कार्रवाई से नाराज प्रतिबंधित संगठन SFJ अब पंजाब के किसानों को अनुदान के जाल में लुभाकर उन्हें देशद्रोह के लिए उकसाने में जुट गया है.

भारत में खालिस्तानी आतंकवाद भड़काने की साजिश, पंजाब के सिखों को लुभाने की चाल
फाइल फोटो

नई दिल्ली: प्रतिबंधित आतंकी संगठन सिख फॉर जस्टिस (SFJ) के प्रमुख नेताओं गुरपतवंत सिंह पन्नू और हरदीप सिंह निज्जर की संपत्तियों को NIA कुर्क करने जा रही है. इस कार्रवाई से नाराज प्रतिबंधित संगठन SFJ अब पंजाब के किसानों को अनुदान के जाल में लुभाकर उन्हें देशद्रोह के लिए उकसाने में जुट गया है. अपने भारत-विरोधी अभियान 'रेफरेंडम-2020' के तहत संगठन अब कर्ज के जाल में फंसे पंजाब के किसानों को 3500 रुपये अनुदान के तौर पर देने की पेशकश कर रहा है.

अनुदान के जरिए पंजाब के सिखों को लुभाने की चाल
अमेरिका से अलगाववादी गतिविधियां चला रहे SFJ ने पंजाब के ऐसे किसानों को मासिक आधार पर धन मुहैया कराने की घोषणा की है, जो कृषि ऋण नहीं चुका पाए हैं. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक SFJ की नवंबर में रेफरेंडम-2020' करवाने की प्लानिंग है. इस रेफरेंडम में पंजाब के सिख ज्यादा मात्रा में भाग लें. इसी रणनीति के तहत SFJ इसके लिए पंजाब के किसानों को लुभाने की कोशिश कर रहा है. इससे पहले SFJ ने घोषणा की थी कि पंजाब के पांच एकड़ तक जमीन वाले किसानों को प्रत्येक कृषि ऋण चुकाने में मदद के लिए 3,000 रुपये की मदद की जाएगी. लेकिन अब इसे बढ़ाकर 3500 रुपये कर दिया गया है. 

रेल मंत्री पीयूष गोयल को लिखा धमकी भरा पत्र
भारत को धमकी देते हुए गुरपतवंत सिंह पन्नू ने कहा कि भारत उनकी जमीन ले सकता है, लेकिन  रेफरेंडम 2020 को रोक नहीं पाएगा. इससे पहले SFJ 13 सितंबर को पंजाब में 'रेल रोको' अभियान का आह्वान करते हुए उस दिन पंजाब में ट्रेन नहीं चलाने की धमकी दे चुका है. केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल को लिखे पत्र में SFJ ने कहा कि भारत सरकार की आपराधिक लापरवाही की वजह से पंजाब के किसान आत्महत्या के लिए मजबूर हो रहे हैं.

पंजाब में जब्त हो रही हैं पुन्नू और निज्जर की संपत्ति
बता दें कि NIA की सिफारिश पर गृह मंत्रालय ने अमृतसर के खानकोट गांव में पन्नू की 46 कनाल भूमि और भैंसवाल इलाके के सुल्तानविंड उपनगरीय इलाके में 11 कनाल 13.5 मरला जमीन कुर्क करने का आदेश दिया है. जालंधर के सिंहपुरा में भार गांव में निज्जर की 11 कनाल और 13 मरला जमीन को भी कुर्क करने के आदेश जारी किए गए हैं. पन्नू SFJ का जनरल काउंसलर हैं, जबकि निज्जर 'रेफरेंडम 2020' कनाडा का समन्वयक है.

पंजाब को देश से अलग करना चाहता है SF
NIA सूत्रों के मुताबिक पन्नू की लीडरशिप में SFJ सोशल मीडिया पर 'रेफरेंडम-2020' के प्रचार में लगा हुआ है. इसके लिए वह अमेरिका और अन्य देशों में कुछ जगहों पर बैठकें आयोजित करने की कोशिश कर रहा है. जिससे प्रवासी पंजाबी सिखों को अपनी अवैध गतिविधियों के लिए उकसाया जा सके. गृह मंत्रालय ने पिछले साल 10 जुलाई को UAPA के तहत SFJ को 'गैरकानूनी संगठन' घोषित किया था. इसके साथ ही पन्नू, निज्जर और सात अन्य खालिस्तानियों को 'आतंकवादी' घोषित किया गया था. 

भारत के लोगों का संगठन को नहीं मिल रहा है समर्थन
भारत के लोगों पर डोरे डालने के लिए SFJ ने 4 जुलाई को ऑनलाइन मतदाता पंजीकरण शुरू करने के लिए पंजाब, दिल्ली और जम्मू-कश्मीर को चुना था.लेकिन उसे लोगों का समर्थन नहीं मिल पाया. SFJ ने दिल्ली और जम्मू-कश्मीर में मतदाता पंजीकरण शुरू करने के लिए दो बार कनाडाई साइबरस्पेस का उपयोग किया है, जो 'रेफरेंडम 2020' अभियान में प्रमुख भूमिका निभा रहा है.

पाकिस्तान की शह पर काम कर रहा है SFJ
पाकिस्तान की शह पर काम कर रहे SFJ को आईएसआई की ओर से भारी मात्रा में पैसे और हथियार भी दिए जा रहे हैं. गुरपतवंत सिंह पन्नू के साथ ही गोपाल सिंह चावला और अवतार सिंह पन्नू भी पाकिस्तान की इस साजिश में बड़े मोहरे बने हुए हैं. ये आतंकी सोशल मीडिया का दुरुपयोग कर पंजाब में अलगाववादी गतिविधियों को बढ़ावा देने में लगे हैं. 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.