close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमित शाह के बयान पर राहुल का पलटवार, उनकी बात को सीरियसली नहीं लेते

राहुल ने कहा, 'यह अपमानजनक बयान है लेकिन हम उस बयान को बहुत गंभीरता से नहीं लेते है जो अमित शाह ने दिया है.' 

अमित शाह के बयान पर राहुल का पलटवार, उनकी बात को सीरियसली नहीं लेते
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो साभार - PTI)

कोलार गोल्ड फिल्ड्स (कर्नाटक) : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विपक्ष की तुलना जानवरों के साथ करने संबंधी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बयान की शनिवार को निंदा करते हुए आरोप लगाया कि इस ‘अपमानजनक बयान’ से उनकी ‘मानसिकता’ का पता चलता है जिसमें दलितों, आदिवासियों, अल्पसंख्यकों और यहां तक कि उनकी पार्टी के नेताओं को ‘‘व्यर्थ’’ समझा गया है.

'यह अपमानजनक बयान है'
राहुल ने कहा, 'यह अपमानजनक बयान है लेकिन हम उस बयान को बहुत गंभीरता से नहीं लेते है जो अमित शाह ने दिया है.' शाह पर कटाक्ष करते हुए कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि देश में केवल दो या तीन लोग है ‘‘जो सब कुछ करने योग्य है’’ वे सब कुछ समझते है और बाकी सब लोग बेकार लोग हैं.’’

मैं जैन नहीं हिंदू-वैष्णव हूं, हमारा परिवार 7 पीढ़ियों से हिंदू है : अमित शाह

राहुल ने कहा,‘‘इसमें न केवल दलित बल्कि आदिवासी, अल्पसंख्यक भी हैं. यह यहीं समाप्त नहीं होता है. इसमें श्री आडवाणी, श्री मनोहर जोशी और यहां तक कि श्री गडकरी, हर व्यक्ति शामिल हैं.’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा,‘‘ श्री अमित शाह और श्री मोदी के बीच ही असल बात है. उन्हें विश्वास दिलाया गया हैं, इस देश में केवल दो ही व्यक्ति है. यह वास्तविकता है.’’ 

शाह ने साधा था विपक्ष पर निशाना
शाह ने भाजपा के स्थापना दिवस पर मुम्बई में एक रैली में कहा था, ‘‘2019 (चुनाव) के लिए उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है. विपक्षी एकजुटता की कोशिश हो रही है. जब भारी बाढ़ आती है तो सब कुछ बह जाता है. केवल एक वटवृक्ष बचता है और बढ़ते पानी से खुद को बचाने के लिए सांप, नेवला, कुत्ते और बिल्लियां और अन्य जानवर साथ आ जाते हैं.’’ उन्होंने कहा था, ‘‘मोदी बाढ़ के कारण सभी बिल्ली- कुत्ते, सांप और नेवला मुकाबला करने साथ आ रहे हैं.’’ 

(इनपुट - भाषा)