विदेश में नेहरू की लोकप्रियता दिखाने के लिए थरूर ने Twitter पर शेयर की फोटो, कर बैठे बड़ी गलती

शशि थरूर नेहरू और इंदिरा गांधी की एक फोटो शेयर करते हुए लिखा, '1954 में अमेरिका में नेहरू और इंदिरा गांधी. यह उत्साह से भरे लोगों अमेरिकी लोगो के सैलाब पर नजर डालें. 

विदेश में नेहरू की लोकप्रियता दिखाने के लिए थरूर ने Twitter पर शेयर की फोटो, कर बैठे बड़ी गलती
कांग्रेस सांसद शशि थरूर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: कांग्रेस (congress) सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर (Shashi Tharoor) ट्टविटर (Twitter) पर खासे सक्रिय रहते हैं. उनके किए गए ट्वीट अक्सर विवादों में भी आते हैं और सुर्खियां भी बनते हैं. कुछ ऐसा ही इस बार भी हुआ है लेकिन इस बार उनसे एक गलती हो गई. 

शशि थरूर ने ट्विटर पर नेहरू और इंदिरा गांधी (Indira gandhi) की एक फोटो शेयर करते हुए लिखा, '1954 में अमेरिका में नेहरू और इंदिरा गांधी. यह उत्साह से भरे लोगों अमेरिकी लोगो के सैलाब पर नजर डालें. यह सब बिना पीआर कैंपेन, एनआरआई भीड़ प्रबंधन, और भारी भरी करम मीडिया प्रचार के बिना. ' थरूर बताना चाह रहे थे कि विदेशों में भारतीय प्रधानमंत्री की लोकप्रयिता कोई नई चीज नहीं है. 

tharoor

लेकिन इस तस्वीर को शेयर करने के बाद कई लोगों ने कमेंट में कहा कि यह तस्वीर न तो 1954 की है और न ही रूस की.  @IndiaHistorypic ने लिखा कि यह  तस्वीर 1956 की है और रूस की राजधानी मॉस्को की है. 

indian history

कुछ समय के बाद थरूर को अपनी गलती का अहसास हुआ. शशि थरूर ने ट्वीट कर इस मसले पर सफाई भी दी.

शशि थरूर ने ट्वीट किया, मुझे बताया गया है कि यह तस्वीर अमेरिका की नहीं रूस की है. अगर ऐसा है भी तभी यह बात गलत साबित नहीं होती कि पूर्व प्रधानमंत्रियों को विदेशों में लोप्रियता हासिल थी. जब नरेंद्र मोदी को सम्मानित किया जाता है तो भारतीय प्रधानमंत्री को सम्मानित किया जाता है, यह सम्मान भारत के लिए है।'