J&K: शेख अब्दुल्ला जयंती पर अब नहीं होगी छुट्टी, प्रशासन ने अवकाश की नई लिस्ट जारी की

इस लिस्ट में 26 को अक्टूबर को जगह दी गई है जिसे 'विलय दिवस' के तौर पर मनाया जाता है. बता दें 26 अक्टूबर 1947 को महाराजा हरी सिंह ने भारत के साथ विलय पत्र पर हस्ताक्षर किए थे. 

J&K: शेख अब्दुल्ला जयंती पर अब नहीं होगी छुट्टी, प्रशासन ने अवकाश की नई लिस्ट जारी की
जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री शेख अब्दुल्ला (फाइल फोटो)

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) प्रशासन ने अगले साल के लिए घोषित सरकारी अवकाश (Holiday) की लिस्ट जारी की है. 2020 में 2019 के मुकाबले एक छुट्टी कम है. खास बात यह है कि लिस्ट में पूर्व मुख्यमंत्री और कद्दावर नेता शेख अब्दुल्ला (Sheikh Abdullah) की जयंती और शहीद दिवस को जगह नहीं दी गई है. बता दें शेख अब्दुल्ला का जन्म 5 दिसंबर 1905 को हुआ था.

शेख अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारुक अब्दुल्ला के पिता और उमर अब्दुल्ला के दादा थे. वह ऑल जम्मू और कश्मीर मुस्लिम कॉन्फ्रेंस के संस्थापक नेता थे जिसने बाद में जम्मू कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस का रूप लिया. 

इस लिस्ट में 26 को अक्टूबर को जगह दी गई है जिसे 'विलय दिवस' के तौर पर मनाया जाता है. बता दें 26 अक्टूबर 1947 को महाराजा हरी सिंह ने भारत के साथ विलय पत्र पर हस्ताक्षर किए थे. 

शहीद दिवस जम्मू कश्मीर में हर साल 13 जुलाई को मनाया जाता रहा है. यह दिवस 1931 में शहीद हुए लोगों की याद में मनाया जाता है. 1931 में इस दिन डोगरा शासक महाराजा हरि सिंह के सिपाहियों द्वारा प्रदर्शन कर रहे लोगों पर फायरिंग कर दी गई थी.  

ये वीडियो भी देखें: