शिवसेना नेता अरविंद सावंत का मोदी कैबिनेट से इस्तीफा, कहा- केंद्र में बने रहना नैतिक रूप से सही नहीं

सावंत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि BJP चुनाव पूर्व किए गए अपने वादों से पीछे हट गई है.

शिवसेना नेता अरविंद सावंत का मोदी कैबिनेट से इस्तीफा, कहा- केंद्र में बने रहना नैतिक रूप से सही नहीं
शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर शिवसेना से किए 50:50 फॉर्मूले का वादा तोड़ने का आरोप लगाया.

नई दिल्ली/मुंबई: केंद्रीय मंत्रिमंडल में शिवसेना (Shiv Sena) के एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत (Arvind Sawant) ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. अरविंद सावंत केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री के पद संभाल रहे थे. सावंत ने कई ट्वीट कर कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP)-शिवसेना के बीच सत्ता साझेदारी को लेकर एक समझौता हुआ था.

सावंत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भाजपा चुनाव पूर्व किए गए अपने वादों से पीछे हट गई है. केंद्र में बने रहना मेरे लिए नैतिक रूप से सही नहीं होगा, इसलिए मैंने केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है.

यह पूछने पर कि क्या शिवसेना भाजपा की अगुआई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से निकल रही है?, उन्होंने कहा, "मेरी कार्रवाई से इसका मतलब कोई भी समझ सकता है."

शिवसेना नेता ने कहा, ''अमित शाह और उद्धव ठाकरे की मुलाकात में 50-50 फीसदी सत्ता का बंटवारा तय हुआ था. मुख्यमंत्री पद के बंटवारे की भी बात थी. बीजेपी ने इसे नकारा और कहा कि ऐसा तय ही नहीं हुआ. इससे विश्वास को ठेस पहुंची है.

इससे पहले सावंत ने कहा, "दोनों पक्षों ने यह स्वीकार किया था, लेकिन इससे इंकार कर शिवसेना को झूठा बताने की कोशिश की गई. यह चौंकाने वाला है और राज्य के स्वाभिमान पर धब्बा है."

महाराष्ट्र LIVE: उद्धव ठाकरे और शरद पवार के बीच हुई बैठक, सरकार गठन पर सस्पेंस जारी

उन्होंने महाराष्ट्र भाजपा पर समझौता तोड़ने के लिए झूठ का सहारा लेने का आरोप लगाया. सावंत ने कहा, "झूठ के ऐसे माहौल में मुझे केंद्रीय मंत्रिमंडल में क्यों बने रहना चाहिए?"

महाराष्ट्र भाजपा की प्रदेश इकाई ने रविवार को राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी को सूचित कर दिया कि वह सरकार नहीं बना सकती है, हालांकि चुनाव पूर्व बने गठबंधन में पूर्ण बहुमत प्राप्त कर लिया था.

अब राज्यपाल ने प्रदेश की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना को सरकार बनाने और सोमवार शाम तक जवाब देने के लिए आमंत्रित किया है.