शिवसेना, NCP, कांग्रेस ने 162 विधायकों का किया शक्ति प्रदर्शन, बागी नहीं होने की दिलाई शपथ

मुंबई के होटल ग्रैंड हयात में तीनों दलों के विधायकों के अलावा समाजवादी पार्टी और कुछ अन्य छोटे दलों और कुछ निर्दलीय विधायक मीडिया के सामने परेड कर रहे हैं. सभी विधायक बारी-बारी से अपना नाम अपने विधानसभा क्षेत्र का नाम बता रहे हैं.

शिवसेना, NCP, कांग्रेस ने 162 विधायकों का किया शक्ति प्रदर्शन, बागी नहीं होने की दिलाई शपथ
मुंबई के होटल ग्रैंड हयात में विधायकों की परेड.

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में हर रोज नया रंग देखने को मिल रहा है. सोमवार शाम को राष्ट्रवादी कांग्रेस (Congress) पार्टी (एनसीपी), शिवसेना (Shiv Sena), और कांग्रेस (Congress) अपने विधायकों की मीडिया के सामने परेड करा रही है. मुंबई के होटल ग्रैंड हयात (Hotel Grand Hyatt) में तीनों दलों के विधायकों के अलावा समाजवादी पार्टी और कुछ अन्य छोटे दलों और कुछ निर्दलीय विधायक मीडिया के सामने परेड कर रहे हैं. सभी विधायक बारी-बारी से अपना नाम अपने विधानसभा क्षेत्र का नाम बता रहे हैं. इतना ही नहीं, सभी विधायकों को होटल में ही शपथ दिलाई गई कि वे विधानसभा में अपनी पार्टी के पक्ष में ही वोट करेंगे.

परेड के दौरान एनसीपी प्रमुख शरद पवार, शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे, महाराष्ट्र कांग्रेस (Congress) के प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोरात के अलावा तीनों दलों के कई बड़े नेता मौजूद रहे. परेड के दौरान शरद पवार के साथ उनकी बेटी सुप्रिया सुले भी मौजूद रहीं. शिवसेना (Shiv Sena) की ओर से आदित्य ठाकरे भी मौजूद हैं, क्योंकि 162 विधायकों में से एक आदित्य भी हैं. बताया जा रहा है कि शिवसेना (Shiv Sena) के 56, कांग्रेस (Congress) के 44 और एनसीपी के 54 में से करीब 52 विधायक होटल में मौजूद हैं. इसके अलावा समाजवादी पार्टी और कुछ निर्दलीय विधायक तीनों दलों के समर्थन में हैं.

लाइव टीवी देखें-:

उद्धव, सुप्रिया के चेहरे पर दिखी मुस्कान
शनिवार सुबह में जब देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री और एनसीपी के विधायक अजित पवार ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली थी तब शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के चेहरे पर मायूसी छा गई थी. हालांकि शाम तक शरद पवार ने अजित पवार के साथ गए एनसीपी के अधिकतर विधायकों को फिर अपने पाले में करने में सफल रहे. एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर स्टेटस डाल दिया था कि उनकी पार्टी और परिवार दोनों टूट गई है. सोमवार को शाम को होटल ग्रैंड हयात में मौजूद सुप्रिया और उद्धव दोनों मुस्कुराते दिखे. दोनों दलों के नेता विधायकों से हंसी-खुशी मिलते दिखे. कांग्रेस वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण भी काफी खुश दिखे.

इस परेड के जरिए शिवसेना (Shiv Sena), एनसीपी और कांग्रेस (Congress) ये दिखाने की कोशिश कर रही है कि मौजूदा देवेंद्र फडणवीस की सरकार अल्पमत में है. हालांकि मीडिया के सामने परेड कराने का कोई निश्चित फायदा नहीं है. कोई भी सरकार बहुमत में है या अल्पमत में है इसका फैसला विधानसभा में ही हो सकता है. तीनों दल जहां देवेंद्र फडणवीस को जल्द से जल्द बहुमत साबित करने को कह रहे हैं, वहीं बीजेपी इसमें थोड़ा वक्त चाह रही है. फिलहाल यह मामला सुप्रीम कोर्ट में है. कोर्ट ने सोमवार को दोनों पक्षों की दलीलें सुन ली हैं और मंगलवार सुबह 10 बजे के बाद इसपर फैसला सुनाएगी.

Supriya
 

इससे पहले शिवसेना (Shiv Sena), कांग्रेस (Congress) और एनसीपी ने संयुक्त रूप से 162 विधायकों का समर्थन पत्र लेकर राजभवन पहुंचे और सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है. राज्यपाल मुंबई में नहीं हैं, इसलिए तीनों दलों के नेताओं से उनकी मुलाकात नहीं हो पाई है. इस दौरान तीनों दलों ने आशंका जताई है कि देवेंद्र फडणवीस बहुमत नहीं साबित करने की स्थिति में मध्यावधि चुनाव की अनुशंसा कर सकती है.

ये भी देखें-: