राम मंदिर ट्रस्ट गठन के फैसले पर बोले संजय राउत, 'बालासाहेब होते तो बहुत खुश होते'

शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत ने कहा है कि आज बालासाहेब होते तो बहुत खुश होते, उन्होंने राम मंदिर के लिए बहुत काम किया था. 

राम मंदिर ट्रस्ट गठन के फैसले पर बोले संजय राउत, 'बालासाहेब होते तो बहुत खुश होते'
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण के लिए ट्रस्ट के गठन का प्रस्ताव लोकसभा में पारित हो गया है. कैबिनेट ने राम मंदिर ट्रस्ट बनाने को मंजूरी दे दी है. बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि सरकार ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए योजना तैयार कर ली है. उन्होंने कहा कि माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार कैबिनेट की बैठक में इस दिशा में महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है. पीएम ने लोकसभा में कहा कि राम मंदिर ट्रस्ट का नाम 'श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' होगा. 

सरकार के इस फैसले पर शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत ने कहा है कि प्रधानमंत्री केवल कोर्ट के आदेश का पालन कर रहे हैं. ये अच्छी बात है. इसका क्रेडिट उन सबको जाता है जिनका योगदान मंदिर आंदोलन में रहा है. उन्होंने कहा कि बालासाहेब होते तो बहुत खुश होते, उन्होंने इसके लिए काम किया था. इस सवाल पर कि पीएम ने मंदिर बनाने के लिए सभी को आमंत्रित किया है, संजय राउत ने कहा कि राम किसी पार्टि के नहीं, हम जरूर जाएंगे. 

मंदिर ट्रस्ट गठन को लेकर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा कि, 'नरेंद्र मोदी जी को प्रभु श्री राम के जन्मस्थान पर एक भव्य मंदिर बनाने के लिए एक स्वायत्त ट्रस्ट का गठन करने के लिए कोटिशः धन्यवाद. 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र' ट्रस्ट पूरी तरह स्वतंत्र एवं मंदिर निर्माण से संबंधित सभी निर्णय लेने में सक्षम होगा.'

उधर, समाजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी ने राम मंदिर ट्रस्ट के ऐलान की टाइमिंग को लेकर सवाल उठाए हैं. सपा विधायक ने कहा कि दिल्ली चुनाव को जीतने के लिए इस समय ट्रस्ट का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला तो बहुत पहले आया था लेकिन अभी वोटिंग के पहले ही क्यों इसका ऐलान किया गया. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी तुष्टिकरण कर रहें हैं. रोज हिंदू मुस्लिम कर रहें हैं. 

लाइव टीवी देखें