पंजाब में आतंकी हमले में 7 लोगों की मौत, हाई अलर्ट जारी

पाकिस्तान की सीमा से लगे गुरदासपुर जिले में सेना की वर्दी पहने भारी हथियारों से लैस चार आतंकवादियों ने सोमवार सुबह एक ढाबे, एक बस, एक स्वास्थ्य केंद्र और एक पुलिस थाने पर ताबड़तोड़ हमले किये जिनमें एक पुलिसकर्मी सहित छह लोग मारे गए तथा कई अन्य घायल हो गए। उधर, स्वतंत्रता दिवस से करीब तीन सप्ताह पूर्व गुरदासपुर जिले में आज तड़के हुए आतंकी हमले के मद्देनजर पंजाब में सुरक्षा बलों से ‘अधिकतम चौकसी’ बरतने को कहा गया है और हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

पंजाब में आतंकी हमले में 7 लोगों की मौत, हाई अलर्ट जारी

गुरदासपुर (पंजाब) : पाकिस्तान की सीमा से लगे गुरदासपुर जिले में सेना की वर्दी पहने भारी हथियारों से लैस चार आतंकवादियों ने सोमवार सुबह एक ढाबे, एक बस, एक स्वास्थ्य केंद्र और एक पुलिस थाने पर ताबड़तोड़ हमले किये जिनमें एक पुलिसकर्मी सहित 7 लोग मारे गए तथा कई अन्य घायल हो गए। उधर, स्वतंत्रता दिवस से करीब तीन सप्ताह पूर्व गुरदासपुर जिले में आज तड़के हुए आतंकी हमले के मद्देनजर पंजाब में सुरक्षा बलों से ‘अधिकतम चौकसी’ बरतने को कहा गया है और हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

आतंकवादियों ने दीनानगर में सुबह करीब पांच बजे एक चलती बस पर हमला किया और यात्रियों पर गोलियां बरसाईं जिससे चार लोग घायल हो गए। आतंकवादियों ने फिर एक स्वास्थ्य केंद्र को निशाना बनाया और फिर उस इमारत पर हमला किया जहां पुलिसकर्मियों के परिवार रहते हैं। उन्होंने पुलिस थाने में घुसने से पहले ग्रेनेड फेंके। दीनानगर थाने में छिपे हमलावरों के खिलाफ अभियान में सेना उतार दी गई है। विशेष बलों को भी तैनात किया गया है और घटना शुरू होने के कई घंटों बाद भी मुठभेड़ जारी है। पुलिस के अनुसार हमलावरों ने पहले सड़क किनारे स्थित एक ढाबे को निशाना बनाया और फिर एक व्यक्ति से उसकी मारूति-800 छीन ले गए जिस पर पंजाब का नंबर था। उन्होंने दीनानगर बाईपास के नजदीक सड़क किनारे एक विक्रेता की गोली मार कर हत्या कर दी। फिर उन्होंने एक बस पर गोलीबारी की और इसके बाद दीनानगर थाने के पास स्थित एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को निशाना बनाया जिसमें एक महिला सहित तीन नागरिकों और एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई।

इसके बाद, बंदूकधारी दीनानगर थाने में घुस गए और गोलीबारी कर दी जिसमें पांच पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए। आतंकवादियों ने परिसर के एक और हिस्से को निशाना बनाया जहां पुलिसकर्मियों के परिवार रहते हैं। स्थानीय निवासी कमलजीत सिंह मथारू ने कहा कि हमलावरों ने उस पर गोलीबारी कर उसकी कार छीन ली और वे सेना की वर्दी पहने हुए थे तथा भारी हथियारों से लैस थे। गोलीबारी में मथारू घायल हो गया और वह अस्पताल में भर्ती है। बादल और उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने हमले की निन्दा की है और कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति हर कीमत पर बहाल रखी जाएगी। मुख्यमंत्री ने आपातकालीन बैठक बुलाई है।

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि इस ‘संवेदनशील’ क्षेत्र में पूर्व में पाकिस्तान से घुसपैठ और ‘सीमा पार से शरारत’ की खबरें भी रही हैं। रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि विशेष बल तैनात किए गए हैं, जो विद्रोहियों और आतंकियों से निपटने में सक्षम हैं। सेना ने सबकुछ किया है जो उसे करना चाहिए।’ गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि किसी के बंधक होने वाली स्थिति नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय गृह सचिव एलसी गोयल ने पंजाब के पुलिस महानिदेशक सुमेध सिंह सैनी से बात की और वह स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। हमले के मद्देनजर पंजाब, पड़ोसी हरियाणा और केंद्र शासित क्षेत्र चंडीगढ़ में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। यह हमला स्वतंत्रता दिवस से कुछ हफ्ते पहले हुआ है।

राज्य में महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों के इर्द गिर्द और जम्मू कश्मीर से लगते इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। पुलिस ने ‘नाके’ स्थापित किए हैं और वाहनों की गहन तलाशी ली जा रही है। सीमा क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक ईश्वर चंद्र शर्मा ने कहा कि बंदूकधारियों ने पंजाब रोडवेज की एक बस पर हमला किया और फिर थाना परिसर में घुस गए। उन्होंने कहा कि हमने उन्हें पास की एक इमारत में घेर लिया है जो एक त्याग दी गई इमारत और बैरक है। शर्मा ने कहा कि दीनानगर जाने वाले रेल मार्ग पर चार-पांच बम भी मिले हैं। आज सुबह शहर में इस हमले की वजह से दहशत फैल गई और लोग घरों के अंदर ही रहे।

पठानकोट से दीनानगर करीब 25 किलोमीटर दूर है। नगर के निवासी जतिदंर कुमार का घर दीनानगर थाने से महज 500 मीटर की दूरी पर है। उसने कहा कि हमले के बारे में जानकर लोग हैरान और भयभीत हैं। गुरदासपुर जिले में दीनागनर तीसरा सबसे बड़ा नगर है। पंजाब स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत जतिंदर कुमार ने कहा कि हम थाने में सुरक्षाबलों और (संदिग्ध) आतंकवादियों के बीच हो रही गोलीबारी की आवाज अब भी सुन सकते हैं।