गाड़ियों में लगेंगे नींद का पता लगाने वाले सेंसर, पायलट की तरह होगी ड्राइवर्स की जॉब

Sleep Detection Sensors In Commercial Vehicles: कमर्शियल वाहनों के ड्राइवर्स के लिए गाड़ी चलाने का समय तय किया जाएगा. वो एक दिन में निर्धारित समय से ज्यादा गाड़ी नहीं चला पाएंगे.

गाड़ियों में लगेंगे नींद का पता लगाने वाले सेंसर, पायलट की तरह होगी ड्राइवर्स की जॉब
फाइल फोटो | फोटो साभार: PTI

नई दिल्ली: केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए कमर्शियल ट्रक ड्राइवर्स के लिए गाड़ी चलाने का समय तय (Fixed Time For Drivers) किए जाने की वकालत की है. इसके अलावा उन्होंने कमर्शियल वाहनों में ड्राइवर को नींद आने का पता लगाने वाले सेंसर (Sleep Detection Sensors) लगाने पर भी जोर दिया.

तय समय से ज्यादा नहीं चला पाएंगे गाड़ी

नितिन गडकरी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि पायलटों की तरह ट्रक ड्राइवर्स के लिए भी ड्राइविंग के घंटे तय होने चाहिए. इससे थकान की वजह से होने वाली सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी.

यूरोपीय मानकों का किया जाएगा पालन

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘मैंने अधिकारियों से यूरोपीय मानकों के अनुरूप कमर्शियल वाहनों में गाड़ी चलाते समय नींद आने का पता लगाने वाले सेंसर को लेकर नीति पर काम करने को कहा है.’

ये भी पढ़ें- यूपी में कब आएगा जनसंख्या नियंत्रण कानून? CM योगी ने दिया ये जवाब

मुख्यमंत्रियों को लिखेंगे लेटर- गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट कर कहा कि वो जिला सड़क कमेटियों की नियमित बैठक बुलाने के लिए मुख्यमंत्रियों और जिलों के डीएम को लेटर लिखेंगे.

इससे पहले मंगलवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा परिषद (NRSC) में नामित नए सदस्यों के साथ परिचय बैठक (Introductory Meeting) में शामिल हुए. केंद्रीय मंत्री ने बताया कि उन्होंने परिषद की बैठक हर दो महीने में आयोजित करने का निर्देश दिया है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.