केजरीवाल ने दिल्‍ली की तुलना 'गैस चैंबर' से की, सिसोदिया से स्‍कूल बंद करने का आग्रह किया

इसके साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शहर में प्रदूषण के बढ़े हुए स्तर को देखते हुए मंगलवार को उप मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से स्कूलों को कुछ दिनों तक बंद रखने पर विचार करने को कहा. 

केजरीवाल ने दिल्‍ली की तुलना 'गैस चैंबर' से की, सिसोदिया से स्‍कूल बंद करने का आग्रह किया
अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: धुंध की चादर में लिपटी दिल्‍ली-एनसीआर की हालत पर चिंता जाहिर करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम सभी को मिलकर इस समस्‍या का समाधान खोजना होगा. हर साल इस समय तकरीबन एक म‍हीने तक दिल्‍ली की हालत 'गैस चैंबर' की तरह हो जाती है. इसके साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शहर में प्रदूषण के बढ़े हुए स्तर को देखते हुए मंगलवार को उप मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से स्कूलों को कुछ दिनों तक बंद रखने पर विचार करने को कहा.

दिल्ली में मंगलवार को वायु प्रदूषण 'बेहद गंभीर' स्तर पर पहुंच गया. सुबह में धुंध की बेहद मोटी परत छाई रही और प्रदूषण का स्तर कई बार बर्दाश्त करने लायक स्तरों से ऊपर पहुंचा. केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ''प्रदूषण के बढ़े स्तर को देखते हुए, मैंने शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से स्कूलों को कुछ दिनों तक बंद रखने पर विचार करने का आग्रह किया है.'' भारतीय चिकित्‍सा संघ (आईएमए) ने भी बच्चों की सेहत पर वायु प्रदूषण के खतरनाक प्रभावों को देखते हुए दिल्ली सरकार से अपील की है कि वह स्कूलों में आउटडोर खेलों और ऐसी अन्य गतिविधियों को बंद करवाए.

नमी और प्रदूषकों के मेल से शहर पर धुंध की मोटी परत छाए रहने के कारण कल शाम से वायु गुणवत्ता और दृश्यता में तेजी से गिरावट शुरू हो चुकी थी.

यह भी पढ़ें- SMOG का कहरः प्रदूषण की वजह से दिल्ली-एनसीआर में 6 साल घटी जिंदगी

मंगलवार सुबह 10 बजे तक, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने वायु गुणवत्ता की स्थिति 'बेहद गंभीर' दर्ज की जिसका अभिप्राय है कि प्रदूषण बहुत ज्यादा बढ़ गया है.