कोलकाता मेट्रो में धुएं के बाद अफरातफरी, यात्रियों की चीख-पुकार के बाद रोकी गई ट्रेन

यात्री चिल्लाने लगे और रेलगाड़ी को चांदनी चौक स्टेशन पर रोक दिया गया.

कोलकाता मेट्रो में धुएं के बाद अफरातफरी, यात्रियों की चीख-पुकार के बाद रोकी गई ट्रेन
14 फरवरी से इस मेट्रो को आम जनता के लिए खोला गया है. (फाइल फोटो)

कोलकाता: कोलकाता मेट्रो (Kolkata Metro) की दम-दम जा रही एक रेलगाड़ी के यात्रियों के बीच शनिवार को उस समय अफरातफरी मच गई, जब एक वातानुकूलित रैक से धुआं निकलने लगा. अधिकारियों ने कहा कि यात्री चिल्लाने लगे और रेलगाड़ी को चांदनी चौक स्टेशन पर दोपहर 1.40 बजे रोक दिया गया.

इस दुर्घटना में कोई हताहत तो नहीं हुआ, लेकिन रेल सेवा पांच मिनट तक बाधित रही. रैक को नोआपारा कारशेड भेजा गया, जबकि यात्रियों को अगली रेलगाड़ी में बिठाया गया.

आम जनता के लिए खोला गया
पता हो कि केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस मेट्रो सेवा का बीते गुरुवार को उद्घाटन किया था. 14 फरवरी से इसे आम जनता के लिए खोला गया है.

इतिहास रचा दिया
कोलकाता ने 20वीं सदी में देश की पहली मेट्रो सेवा शुरू करके इतिहास रचा दिया. अब 21वीं सदी में सिलसिला जारी रहेगा, क्योंकि यह देश की सबसे सस्ती मेट्रो सेवा होगी. कोलकाता में पहली मेट्रो रेल सेवा 1984 में शुरू हुई थी. कोलकाता ईस्ट-वेस्ट मेट्रो इस शहर में दूसरी मेट्रो सेवा है. पहले फेज का निर्माण कार्य पूरा हो गया है जिसे कोलकाता की जनता के लिए चालू कर दिया गया.

पानी के नीचे बनी सुरंग में चलेगी
इसके अलावा, यह पहली ऐसी मेट्रो सेवा होगी जो अंडर वॉटर यानी नदी के पानी के नीचे बनी सुरंग में चलेगी. यह लाइन कुल 15 किलोमीटर होगी. पहले फेज में फिलहाल 6 किलोमीटर लंबी लाइन की शुरुआत होने जा रही है. दूसरे फेज का निर्माण पूरा होने के बाद यह मेट्रो सेवा सॉल्ट सेक्टर 5 से हावड़ा मैदान के बीच 15 किलोमीटर का सफर तय करेगी.

किराया मात्र 5 रुपये
यह पूरे देश की, यहां तक दुनिया की सबसे सस्ती मेट्रो सेवा होगी, जिसमें एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन तक का किराया मात्र 5 रुपये होगा. इसमें कई तरह की यात्री सुविधाएं भी होंगी.

सबसे सस्ती मेट्रो सेवा
यह किसी भी मेट्रो सेवा की तुलना में सबसे सस्ती मेट्रो सेवा होगी. इसमें प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर और डिटेक्शन सिस्टम जैसी आधुनिक सुविधाएं होंगी. मेट्रो रेलवे का कहना है कि जल्दी ही कोलकाता की जनता के लिए यह सेवा बढ़कर 12 किलोमीटर तक हो जाएगी.