जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी से सेब और बादाम के पेड़ टूटे, कई हिस्सों में भारी नुकसान

सेब के पेड़ों को और भी ज्यादा नुकसान पहुंचा है, क्योंकि बर्फबारी के वक्त पेड़ों पर फल लदे हुए थे.

जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी से सेब और बादाम के पेड़ टूटे, कई हिस्सों में भारी नुकसान
सेब के पेड़ों पर फल लदे हुए हैं और भारी बफबारी से शाखाएं टूट रही हैं.

श्रीनगर: कश्मीर में शनिवार को भी भारी बर्फबारी (Snowfall) से जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा. पिछले कई दिनों से स्थिति में कोई सुधार नहीं है जिससे यहां सेब के पेड़ों को भी भारी नुकसान पहुंचा है. पुलवामा और शोपियां जिले की ऊंची पहाड़ियों में सेब के पेड़ों को और भी ज्यादा नुकसान पहुंचा है, क्योंकि जब बर्फबारी हुई, उस वक्त पेड़ों पर फल लदे हुए थे.

हाल ही में हुई बर्फबारी ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा और शोपियां जिलों में सेब के अधिकांश बागों को नुकसान पहुंचाया है. कश्मीर के प्रमुख सेब उत्पादक क्षेत्रों में से एक पुलवामा और शोपियां जिलों में उत्पादकों ने कहा कि भारी बर्फबारी ने सेब के पेड़ों को नुकसान पहुंचाया और उनकी डालियों को तोड़ दिया.

उन्होंने बताया कि नवंबर के महीने में बेमौसम बर्फबारी सामान्य बर्फबारी की तुलना में भारी थी और पेड़ की डालियों पर जमा होने के कारण वे ढह गईं.

अधिकारियों ने इस बात को स्वीकार किया है कि पिछले दो दिनों में हुई बर्फबारी से घाटी में स्थित अधिकतर सेब के बगीचों को नुकसान पहुंचा है. उनके अनुसार, बागवानी विशेषज्ञों की एक टीम को कुल नुकसान का आकलन करने का काम सौंपा गया है. शुरुआती रिपोर्टों से पता चलता है कि मैदानी इलाकों से 30 से 35% नुकसान हुआ है जबकि पहाड़ी क्षेत्रों में अभी भी पहुंचा नहीं जा सकता है.

उल्लेखनीय है कि हाल ही में कश्मीर घाटी में हुई बर्फबारी ने घाटी के कई हिस्सों में तबाही मचाई है. इस बेमौसम बर्फबारी से सैकड़ों सेब, बादाम और बेर के पेड़ नष्ट हो गए हैं.