चीन के खिलाफ #LongLiveDalaiLama कैंपेन लांच, ड्रैगन के खिलाफ लिख रहे ये बात

चीन के खिलाफ सोशल मीडिया पर #LongLiveDalaiLama एक अभियान शुरू किया गया है.

चीन के खिलाफ #LongLiveDalaiLama कैंपेन लांच, ड्रैगन के खिलाफ लिख रहे ये बात
चीन के खिलाफ सोशल मीडिया पर छिड़ा अभियान.

हांगकांगतिब्बत पर अवैध कब्जे को वैध बनाने के प्रयासों और दलाई लामा की छवि को खराब करने को लेकर चीन के खिलाफ सोशल मीडिया पर #LongLiveDalaiLama एक अभियान शुरू किया गया है. इसके अलावा ट्विटर यूजर्स, पंचेन लामा जैसी पवित्र संस्था से छेड़छाड़ की कोशिशों पर भी अपनी भड़ास निकाल रहे हैं. एक सोशल मीडिया यूजर्स ने लिखा- आइए हम बौद्ध संस्थानों को नष्ट करके तिब्बत पर कब्जे को वैध बनाने के चीनी प्रयासों को मात दें. वहीं एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि इसके पहले भी हमने चीन को पंचेन लामा जैसी पवित्र संस्था से छेड़छाड़ करते देखा.

ये भी पढ़ें: 59 ऐप बैन पर चीन के लिए एक और बुरी खबर, भारत के सपोर्ट में खुलकर आया अमेरिका

यूजर ने लिखा- 'आज चीन फिर से दलाई लामा की आध्यात्मिक संस्था को बदनाम करने का प्रयास कर रहा है, जिसने सदियों से मानवता का मार्गदर्शन किया है. आइए हम एक साथ दलाई लामा के लिए लंबे जीवन की प्रार्थना करते हैं.'

भारत में धर्मशाला में रह रहे, तिब्बत की निर्वासित सरकार के प्रमुख लोबसांग सांगे ने कहा कि भारत को चीन के साथ बातचीत के दौरान तिब्बत का मुद्दा भी उठाना चाहिए.

सांगे ने कहा, 'तिब्बत चीन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है और तिब्बत भारत के लिए भी उतना ही महत्वपूर्ण है. उन्होंने (चीन और भारत) कई द्विपक्षीय वार्ताएं की हैं. उन सभी बातचीत के दौरान भारत को तिब्बत का भी मुद्दा उठाना चाहिए.'

बता दें कि धर्मशाला, तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा के साथ-साथ सीटीए का भी घर है, जिन्हें अक्सर तिब्बती सरकार में निर्वासित कहा जाता है. आपको बता दें कि दलाई लामा 1959 में चीनी सरकार के खिलाफ विद्रोह के बाद भारत आ गए थे.

 

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.