close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीबीआई के स्पेशल 500 अधिकारियों ने इन जगहों पर की छापेमारी

सीबीआई की इस देशव्यापी रेड में सीबीआई के 500 से ज्यादा तेजतर्रार अधिकारी शामिल थे. कुछ लोग तो साल की सबसे बड़ी इस रेड को सीबीआई की स्पेशल 500 तक बोल रहे है. 

सीबीआई के स्पेशल 500 अधिकारियों ने इन जगहों पर की छापेमारी
.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई ने साल की सबसे बड़ी छापेमारी करते हुए 30 अलग अलग केस में देश के 19 राज्यो में 110 जगहों पर छापेमारी की है. इस छापेमारी को सीबीआई के 500 से ज्यादा तेजतर्रार अधिकारियों ने अंजाम दिया. आइए जानते हैं सीबीआई कहां-कहां  छापे मारे.

1.सीबीआई ने जिन केस ने छापेमारी की उनमें से हथियारों को फर्जी तरीके से लेने के आरोप में सीबीआई ने श्रीनगर, उधमपुर और 11 जगह जम्मू के प्राइवेट गन हाउस में सीबीआई ने सर्च की है. कुल 13 जगह सर्च की है. सीबीआई ने 2 एफआईआर दर्ज की थी स्पेशल क्राइम चंडीगढ़ ने. सीबीआई को आज सर्च में दस्तावेज, हथियारों को रिन्यूवल के ब्लेंक एप्लीकेशन फॉर्म, मनी ट्रेल आर्म्स डीलर्स के बीच, ब्लेंक एनओसी डीएम के नाम से जारी दस्तावेज गन हाउस से जब्त किए है. सीबीआई को अपनी शुरुआती जांच में पता चला कि जम्मू कश्मीर के इन गन हाउस से डीएम ऑफिस से जारी दस्तावेजों के जरिये फ़र्ज़ी नाम पर हथियारों के लाईसेन्स जारी किए गए था. सीबीआई को ये एक बड़ा रैकेट लग रहा है जिसमे काफी लोग शामिल हो सकते है. इसके अलावा 

2.जबलपुर में भी सर्च चल रही हैं, आरोप है कि साल 2014 अज्ञात लोगों ने रमेश चौरसिया नाम के शख्स से धोखाधड़ी की थी, छिंदवाड़ा में इससे 980 एकड़ जमीन की फर्जी सेल डीड से. ये जमीन 11 करोड़ 50 लाख की जमीन थी. 6 जगह जबलपुर, बेतुल, इंदौर में सीबीआई ने सर्च की है, एक फ़ाइल जिसमे दोनो पार्टी के हस्ताक्षर है वो फ़ाइल मिली है. कई बैंको की पासबुक, केस से जुड़े कागजात भी मिली हैं. आरोपी हैं कुंदन लाल जायसवाल, संतोष जयसवाल, जवाहर चौहान, सतीश माकोड़े, मुन्ना लाल पंवार और अशोक कुमार जयसवाल.

3.जयपुर में कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई ने केस लिया. अर्चना राठौड़ ने शिकायत की थी उसका बेटा अगस्त 2013 से गायब है, इसने पति पर शक जताया था, पूछताछ की. आरोपी- विमलेंद्र पाल सिंह और हिमांशु. इसमे भरत पुर और मुम्बई में रेड हुई है.

4. हरिद्वार में भी सर्च हुआ है. आरोप है सुजीत कुमार लोहानी पर, जोकि हरिद्वार में ही शिवालिक नगर की एसबीआई ब्रांच के तत्कालीन ब्रांच मैनेजर है उसने कुछ प्राइवेट लोगों और बैंक के अधिकारियों के साथ मिलकर 13 हाउजिंग लोन जोकि 13 करोड़ रुपये के थे गलत तरह से जारी किए, ये लोन विजय कुमार कुशवाह और उसके कर्मचारियों को जारी किए. इसमे 55 ग्राम गोल्ड और प्रॉपर्टी से जुड़े कुछ दस्तावेज बरामद हुए हैं.

5. इस केस में अस्सिटेंट डेवलपमेंट अफसर शुभेन्द्र इन्होंने 17.73 लाख रुपये की चीटिंग की थी. इसने फर्जी दस्तावेजों पर लोन लिया था. इसमे कटवा जम्मू में सर्च हुई हैं. 

6. गाज़ियाबाद और बुलंदशहर में 4 जगह रेड हुई हैं, डीके गुप्ता जोकि मेरठ रोड में पीएनबी बैंक में ब्रांच मैनेजर थे. इन पर आरोप है कि इन्होंने कान्हा सेल्स के नाम पर करंट एकाउंट खोला जिसमे इन्होंने 500 और 1000 के नोट जमा किये नोट बंदी के दौरान. 58 लाख रुपये थे कुल. इसमे केवाईसी नॉर्म्स में फर्जी डिटेल इस्तेमाल की गई. इनके यहां से एलआईसी के पेपर, बैंक के कागजात, प्रोपेर्टी के पेपर जब्त.

7. शुगर मिल घोटाला- ये कुछ केस पुराने हैं अप्रैल 2019 में दर्ज हुआ था, इसमे 14 जगहों पर सर्च हुए हैं. आरोपी हैं  तत्कालीन प्रिंसपल सेक्रेटरी नेतराम, विनय प्रिय दुबे रिटायर्ड आईएएस, अलीगंज शुगर मिल में एमडी था. विनय प्रिय दुबे रिटायर्ड आईएएस हैं अलीगंज, लखनऊ में रेड गए हैं, मोहम्मद वाजिद अली और मोहम्मद जावेद इसने विकास नगर, सहारनपुर में रेड हुई है घर पर. ये दोनो एमएलसी इकबाल सिंह के बेटे हैं. सौरभ मुकंद प्राइवेट पर्सन है इसके सहारनपुर के घर पर रेड की है. सीए उसके गुप्ता के दिल्ली के बरखम्बा रोड पर रेड हुई है इससे घर, जीके में भी इसके घर पर रेड हुई हैं.
इन रेड में 11 लाख कैश और कुछ कागजात बरामद. 7 लोग के खिलाफ नामजद एफआईआर है और कुछ प्राइवेट पर्सन.

8. शिलॉन्ग में मेघालय रूरल बैंक के जनरल मैनेजर ने शिकायत की थी कि कृष्ण रैम्परे जोकि तत्कालीन बैंक  मैनेजर थे, गलत तरीके से पद का इस्तेेमाल  करते हुुए 114 लोगों को 14 करोड़ 33 लाख रुपये  क्रेडिट किये हैै. इसमें 9 लोग आरोपी हैं. शिलॉन्ग में 7 जगहों पर रेड हुई है. 

9.हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, तत्कालीन आईएएस टीसी गुप्ता के खिलाफ गुरुग्राम लैंड डील मामले में जनवरी में केस दर्ज हुआ था उसमें आज भी सर्च की गई, इसमे एक कृष बिल्डटेक प्राइवेट लिमिटेड के दिल्ली स्थित जसोला में रेड कर वहां से 14 लैंड डील के कागजात बरामद किए हैं जिसमे से एक दस्तावेज सीबीआई के केस में बहुत महत्वपूर्ण थे. 

10. ये केस तत्कालीन सीएमडी केएस दुग्गल और तत्कालीन सीएमडी , तत्कालीन कंपनी सेकेट्री केसी बाजपेयी, ब्रिटिश इंडिया कारपोरेशन लिमिटिड के हैं, इन्होंने कंपनी के टेंडर में हेर फेर की थी जोकि अपने रिश्तेदारो को जारी किए थे रिश्वत लेकर. इसमे सरकार को करोड़ो का नुकसान हुआ था. इस मामले में 5 जगह सर्च हुई. कानपुर, लखनऊ और चंडीगढ़ . इसमे कुछ कागजात बरामद.

11. ये मामला 3 जुलाई को सीईओ अनुतोष मित्रा , अजय कुमार तत्कालीन डीजीएम बुकरो स्टील प्लांट. आरोप है कि इसने 29 लाख की रिश्वत ली अपनी बेटी की शादी के लिए टेंट वाले से. और दिखाया कि इन्होंने स्टील प्लांट में ये पैसा इस्तेमाल किया था. फर्जी बिल भी लगाये थे. रांची, राउ केला, बुकरो और कलकत्ता में रेड की गईं , कागजात ज़ब्त.

12. 7 जुलाई को एचपी इंटरनेशनल कंपनी की शिकायत पर केस दर्ज हुआ था, निशित कुमार, प्रोपराइटर और अन्य लोगों  के खिलाफ. आरोप है फर्म ने ओसीसी लिमिट 11.75 करोड़ को रिन्यू गलत तरीके से रिन्यू की गई थी जिसकी वजह से वो  NPA हो गया था, मार्च 2018 में 12 करोड़ 41 लाख आउटस्टैंडिंग हो गया था. इस मामले में भी सीबीआई ने सर्च की है. 

13. शिमला के स्कालरशिप घोटाले में भी सर्च हुई हैं. ये स्कॉलरशिप 2013 से 2017 के बीच दी गयी थीं. इसमे पेरेंट्स ने शिकायत की थी कि अवार्ड मिल गया लेकिन पैसा नही मिला, ये घोटाला क़रीब 250 करोड़ रुपये का था. रेड NIELT इंस्टिट्यूट के खिलाफ उनके कांगड़ा , ऊना और सिरमोहर के नाहन ब्रांच में हुई हैं. 

14.तत्कालीन IRS अफसर कुणाल अनुज, डिप्टी कमिश्नर, कस्टम, नावाशिवा पर आरोप है इन्होंने पद पर रहते हुए इसने एक करोड़ रुपये का सरकार को पैसों का नुकसान पहुंचाया है.  इस मामले में सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की थी और आज रेड की है. 

15. तत्कालीन आईआरएस शरद रंजन डिप्टी कमिश्नर कस्टम ने साढ़े तीन करोड़ रुपये का घपला किया.

16.  इसी डिपार्टमेंट के तत्कालीन डिप्टी कमिश्नर कमलेश्वर सिंह ने 2 करोड़ का घपला किये था, इसके यहां रेड में 400 ग्राम सोना बरामद. 

17. सीबीआई ने तीन केस रजिस्टर किये थे एन्टी एवशन विंग के खिलाफ. इसमे फण्ड के दुरप्रयोग का मामला दर्ज हुआ था.  तेलंगाना के इस मामले में सीबीआई ने 28 जगहों पर सर्च की हैं.

18. दिल्ली में एडवांटेज इंडिया लिमिटेड, अककॉर्डिस हेल्थ केअर प्राइवेट लिमिटेड, दीपक तलवार, सुनील खंडेलवाल, टी कपूर और रमन कपूर बाकी कुछ अन्य प्राइवेट पर्सन के खिलाफ जो केस दर्ज हुआ था उसमें रेड की गई हैं. आरोप था 90 करोड़ 72 लाख रुपये का फॉरेन कॉन्ट्रिब्यूशन हुआ था. FCRA के तहत इस मामले में करवाई ही थी. इसमे 11 जगह सर्च हुई हैं, जिसमे मुनिरका, कृष्णनगर, लक्ष्मी नगर, निर्माण विहार, साहिबाबाद, द्वारका, पीतमपुरा और तुर्कमान गेट शामिल हैं. 

19. 24 मई में एक केस रजिस्टर किया था राजकुमार इंस्पेक्टर नारकोटिक कंट्रोल ब्यूरो ने दिल्ली, नीरज भाटिया 3बी हेल्थ केअर के खिलाफ केस दर्ज हुआ था. इसमे राजकुमार कंपनी से रिश्वत मांग रहा था, सीबीआई ने आज उनके घर पर सर्च की है. 

सीबीआई की इस देशव्यापी रेड में सीबीआई के 500 से ज्यादा तेजतर्रार अधिकारी शामिल थे. कुछ लोग तो साल की सबसे बड़ी इस रेड को सीबीआई की स्पेशल 500 तक बोल रहे है.