close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चीन की हर 'चाल' पर होगी निगरानी, सिक्किम और अरुणाचल में बनाई गईं 18 चौकियां

सीमा पर सुरक्षा से जुड़ी आधारभूत संरचना और कर्मियों की संख्या बढ़ाने के तहत अर्द्धसैन्य बल ने सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में ऐसी 18 चौकी बनाई है. 

चीन की हर 'चाल' पर होगी निगरानी, सिक्किम और अरुणाचल में बनाई गईं 18 चौकियां
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली : भारत-नेपाल और भारत-भूटान सीमा की रक्षा करने वाला सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) भारत की दोनों खुली सीमा की हिफाजत के लिए इस साल कुल 72 चौकी को शुरू करेगा. एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी.

सीमा पर सुरक्षा से जुड़ी आधारभूत संरचना और कर्मियों की संख्या बढ़ाने के तहत अर्द्धसैन्य बल ने सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में ऐसी 18 चौकी बनाई है. यहां पर कुछ चौकी डोकलाम के पास है, जहां 2016 की गर्मी में 73 दिनों तक भारतीय और चीनी सुरक्षा बलों के बीच गतिरोध रहा था.

यह पूछे जाने पर कि क्या डोकलाम की घटना के बाद नयी सीमा चौकी (बीओपी) बनाई जा रही है, एसएसबी के महानिदेशक एस. एस. देसवाल ने कहा कि उसके पास भारत-चीन सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी नहीं है और नयी चौकी नेपाल और भूटान से लगी भारत की खुली सीमा की हिफाजत के लिए बनायी जा रही है.

एसएसबी के 55 वें स्थापना दिवस पर संवाददाताओं से बात करते हुए देसवाल ने कहा कि नेपाल और भूटान के साथ भारतीय सीमा पर एसएसबी आधारभूत संरचना का विकास और कर्मियों की तैनाती कर रहा है.