close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्‍ट्र के मुंब्रेश्‍वर मंदिर के महाप्रसाद में जहर मिलाकर सीरिया भागना चाहते थे संदिग्‍ध

महाप्रसाद में ये संदिग्‍ध जहर मिलाकर इस्‍लामिक स्‍टेट (आईएसआईएस) के गढ़ सीरिया जाकर वहां लड़ना चाहते थे.

महाराष्‍ट्र के मुंब्रेश्‍वर मंदिर के महाप्रसाद में जहर मिलाकर सीरिया भागना चाहते थे संदिग्‍ध
आईएसआईएस में शामिल होना चाहते थे संदिग्‍ध.

मुंबई : महाराष्‍ट्र के प्रसिद्ध मुब्रेश्‍वर मंदिर के महाप्रसाद में जहर मिलाने के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. साल की शुरुआत में इस्लामिक स्टेट से संपर्क के शक में महाराष्ट्र से पकड़े गए 10 आतंकियों से पूछताछ में एटीएस को पता चला है कि ये सभी संदिग्‍ध मंदिर के महाप्रसाद में जहर मिलाकर सीरिया भागने की फिराक में थे. पूछताछ में उन्होंने बताया कि उनका प्लान था काफिर (गैर मुस्लिम) को विस्फोट और जहर के जरिये आतंकित करना. महाप्रसाद में ये संदिग्‍ध जहर मिलाकर इस्‍लामिक स्‍टेट (आईएसआईएस) के गढ़ सीरिया जाकर वहां लड़ना चाहते थे.

 

बता दें आरोपी अबु किताल पेशे से फार्मिस्ट है और मुंबई के महानगरपालिका में कर्मचारी रह चुका है. मंदिर के महाप्रसाद में जहर मिलाने के लिए अबु किताल ने अपने फार्मिस्ट नॉलेज का फायदा उठाया और उसने ISIS के मिलिट्री साइंस चैनल में जो प्रोसेस और दिशा निर्देश दिए गए थे, उसके हिसाब से जहर बनाया था. जिसके बाद उसने जहर को सावधानीपूर्वक एक बोतल में संभाल कर रख दिया था. मिली जानकारी के मुताबिक अबु किताल को केमिकल साइंस और विस्फोटक की भी काफी जानकारी थी.