close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर में 11 साल की छात्रा ने स्कूल की तीसरी मंजिल से लगायी छलांग

शहर के मालवीय नगर स्थित सेंट एंसेल्म स्कूल की छटी कक्षा की छात्रा आज आत्महत्या के इरादे से तीसरी मंजिल से कूद गयी. 

जयपुर में 11 साल की छात्रा ने स्कूल की तीसरी मंजिल से लगायी छलांग
फिलहाल आत्महत्या के इरादे के कारणों का पता नही चल पाया है.

जयपुर: जयपुर शहर के मालवीय नगर स्थित सेंट एंसेल्म स्कूल की छटी कक्षा की छात्रा आज आत्महत्या के इरादे से तीसरी मंजिल से कूद गयी. गंभीर रुप से घायल छात्रा को नजदीकी निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया. जहां छात्रा का उपचार जारी है. 

मालवीय नगर पुलिस ने बताया कि 11 वर्षीय छात्रा रिधीमा माहेश्वरी अपने स्कूल की छुट्टी होने के बाद तीसरी मंजिल पर स्थित कक्षा से बाहर आयी और करीब 4 फीट ऊंची दिवार पर चढ़ गयी. छात्र कुछ समझ पाते, इससे पहले ही छात्रा ने नीचे छलांग लगा दी. छात्रा के परिजनों ने उसे नजदीकी निजी अस्पताल में भर्ती कराया. छात्रा के हाथ व पैरों में मल्टीपल फ्रेक्चर हुए है. हालाकि छात्रा की स्थिति खतरे से बाहर बतायी जा रही है. फिलहाल आत्महत्या के इरादे के कारणों का पता नही चल पाया है.

छात्रा के बयान होने पर ही कारणों का होगा खुलासा
एडिश्नल डीसीपी मनोज चौधरी ने बताया कि छात्रा के स्कूल बेग और घर के सामान की जांच की गयी है, लेकिन उसमे भी किसी तरह का सुसाइड नोट या फिर कोई कारण का पता नही चल पाया है. 

बताया जा रहा है कुछ दिनों पहले छात्रा का रिजल्ट आया था जिसमे कम मार्क्स आये थे. जिसके चलते उसका पुराना रिकॉर्ड देखा जा रहा है. छात्रा के स्कूल के साथी व शिक्षकों से भी जानकारी ली गयी लेकिन उसके तनाव में रहना या कोई अन्य बात फिलहाल सामने नही आयी है. पुलिस का कहना है कि छात्रा की हालत स्थिर होने पर उसके बयान  लिये जायेंगे जिसके बाद ही सही कारणों का पता चल पायेगा.

स्कूल प्रशासन ने जांच के लिए बनायी कमेटी
घटना को लेकर स्कूल प्रशासन की ओर से भी बयान जारी किया गया है. स्कूल के वाइस प्रिंसिपल सिरिल डीसूज़ा ने बताया कि छात्रा के नीचे कूदते ही उसे तत्काल नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां पर स्कूल स्टाफ के कई लोग उसकी देखरेख में मौजूद है. परिजनों को सूचना दी गयी. घटना के कारणों की जांच के लिए स्कूल प्रशासन की ओर से भी एक कमेटी बनायी गयी है.