close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बूंदी: डॉक्टरों ने की 2 साल की मासूम की दर्लभ सर्जरी

डॉक्टर अनिल सैनी ने बताया की दुनिया भर में आज तक ऐसी सिर्फ 8 सर्जरी की गई हैं और हिंदुस्तान में ये अपनी तरह की पहली सर्जरी है.

बूंदी: डॉक्टरों ने की 2 साल की मासूम की दर्लभ सर्जरी
दुर्लभ सर्जरी के बाद बच्ची पूरी तरह स्वस्थ है

बूंदी: पंडित ब्रज सुंदर शर्मा सामान्य चिकित्सालय बूंदी में एक दुर्लभ सर्जरी को अंजाम दिया गया. सर्जरी में एक 2 साल की मासूम की सर्जरी कर डॉक्टर अनिल सैनी ने जन्मजात गांठ को निकाला. डॉक्टर अनिल सैनी ने बताया की दुनिया भर में आज तक एसी सिर्फ 8 सर्जरी की गई हैं और हिंदुस्तान में ये अपनी तरह की पहली सर्जरी है.वहीं बच्ची अब पूरी तरह स्वस्थ बताई जा रही है.बच्ची के स्वस्थ होने से पूरे परिवार में खूशी की लहर है

वरिष्ठ चिकित्सक अनिल सैनी  बताया दबलाना क्षेत्र के केशवपुरा निवासी 2 वर्षीय खुशी के बाएं हाथ में एक जन्म से ही गांठ थी जो  धीरे-धीरे बढ़ती जा रही थी मासूम काफी समय से परेशान थी और परिजन उसका इलाज करवा रहे थे ऐसे में 1 सप्ताह पूर्व ही डॉ अनिल सैनी के पास खुशी को लाया गया और उन्होंने जांच की तो पता चला की बच्ची को सिस्टिक हाइग्रोमा  नाम की एक दुर्लभ बिमारी है.डॉक्टरों ने बताया की  ऐसी बीमारी अक्सर गले चेहरे व शरीर  के अन्य भागों में होती है लेकिन बच्ची के  हाथ में यह गांठ  थी.जो लगातार बढ़ती जा रही थी. जब जांच की गई तो   इसकी लंबाई 16 सेंटीमीटर   पाई गई.

डॉक्टर सैनी ने बताया की हमने बच्ची की सर्जरी करने का ठाना लेकिन ये इतना आसान नहीं था इसमें कईं तरह की दिक्कतें थी. लेकिन डॉक्टरों की पूरी टीम ने इस सर्जरी के लिए तैयारी की और पूरी मेहनत और लगन से इस कठिन और दुर्लभ ऑपरेशन को अंजाम दिया.डॉक्टर सैनी ने बताया की इस सर्जरी में सभी डॉक्टरों की पूरी टीम का साथ रहा इसीलिए सर्जरी सफल हो सकी. बच्ची अब पूरी तरह से स्वस्थ बताई जा रही है

बच्ची के सफल ऑपरेशन के बाद बच्ची के परिजन बेहद खुश हैं.बच्ची के माता पिता ने बताया की लंबे समय से वो बच्ची के इलाज के लिए धक्के खा रहे थे. लेकिन अब डॉक्टर सैनी के सफल इलाज से बच्ची ठीक हैं जिससे वो बेहद खुश हैं. बच्ची के परीजनों ने डॉक्टरों का आभार भी जताया