बिहार के 14 जिलों की 39.63 लाख आबादी बाढ़ से प्रभावित, खतरे के निशान से ऊपर बह रही नदियां

दरभंगा जिला में सबसे अधिक 14 प्रखंडों के 173 पंचायतों की 13,51,200 आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है. बाढ़ प्रभावित इन जिलों में बचाव और राहत कार्य चलाए जाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 28 टीमों की तैनाती की गई है.

बिहार के 14 जिलों की 39.63 लाख आबादी बाढ़ से प्रभावित, खतरे के निशान से ऊपर बह रही नदियां

पटना: बिहार में बाढ़ (Bihar Flood) ने तबाही मचा रखी है. प्रदेश के हजारों गांव इस बाढ़ की चपेट में आकर पूरी तरह पानी में डुबे हुए हैं. आंकड़ों पर गौर करें तो प्रदेश के 14 जिलों की 39,63,728 आबादी बाढ़ से प्रभावित है. हालांकि इसमें से 3,16,661 लोगों को अबतक सुरक्षित ठिकानों तक पहुंचाया गया है. 

आपदा प्रबंधन विभाग (Disaster Management Department) से गुरुवार को प्राप्त जानकारी के अनुसार, प्रदेश के 14 जिलों- सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, पूर्वी चम्पारण, पश्चिम चंपारण, खगडिया, सारण, समस्तीपुर, सिवान एवं मधुबनी के 108 प्रखंडों के 972 पंचायतों की 39,63,728 आबादी बाढ़ से प्रभावित है जहां से निष्क्रमित कराए गए 3,16,661 लोगों में से 25,116 व्यक्ति 19 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं.

बाढ़ के कारण विस्थापित लोगों को भोजन कराने के लिए 1,001 सामूदायिक रसोई की व्यवस्था की गई है, जहां अबतक 5,78,272 लोगों ने भोजन कराया गया है. वहीं दरभंगा (Darbhanga) जिला में सबसे अधिक 14 प्रखंडों के 173 पंचायतों की 13,51,200 आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है. बताते चलें कि बिहार के बाढ़ प्रभावित इन जिलों में बचाव और राहत कार्य चलाए जाने के लिए एनडीआरएफ (NDRF) और एसडीआरएफ (SDRF) की कुल 28 टीमों की तैनाती की गई है.

VIDEO

ये भी पढ़ें:- लग्जरी लाइफ जीने की चाह ने बना दिया अपराधी, फंस गया मोहम्मद यूसुफ

गौरतलब है कि बिहार के इन जिलों में बाढ़ का कारण अधवारा समूह नदी, लखनदेई, रातो, मरहा, मनुसमारा, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, गंडक, बूढ़ी गंडक, कदाने, नून, वाया, सिकरहना, लालबेकिया, तिलावे, धनौती, मसान, कोशी, गंगा, कमला बलान, करेह एवं धौंस नदी के जलस्तर का बढ़ना है.

जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार, बागमती नदी सीतामढी, मुजफ्फरपुर एवं दरभंगा में, बूढ़ी गंडक नदी मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर एवं खगडिया में, कमला बलान नदी मधुबनी में, गंगा नदी भागलपुर में, अधवारा नदी सीतामढ़ी में, खिरोई दरभंगा में और महानंदा नदी पूर्णिया में गुरुवार को खतरे के निशान से उपर बह रही है.

विभाग के अनुसार पूर्वी चंपारण जिला के चकिया प्रखंड अंतर्गत बैरिया-करोल गांव के समीप बूढ़ी गंडक के दायं तट बंध 16 किलोमीटर से 18 किलोमीटर  के पीछे निर्मित रिटार्यड बांध के कि.मी. 0.9 पर अज्ञात ग्रामीणों द्वारा बांध को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है. विभाग के अंतर्गत बाकी सभी बाढ़ सुरक्षात्मक बांध सुरक्षित हैं. उल्लेखनीय है कि बिहार में अबतक बाढ़ से दरभंगा जिले में सबसे अधिक सात लोगों तथा पश्चिम चंपारण में चार व्यक्ति की मौत हो चुकी है.

LIVE TV