दो महिलाओं ने 1971 का युद्ध लड़ चुके कैप्टन की जेब से उड़ाए 40 हजार, CCTV में कैद हुई घटना

यह सारी वारदात एटीएम (ATM) में लगे सीसीटीवी (CCTV) में कैद हो गई. सीसीटीवी में साफ दिखाई दे रहा है कि नरेंद्र महाजन एटीएम में जैसे ही घुसे और उन्होंने अपना कार्ड मशीन में डाला, पीछे से दो महिलाएं एटीएम केबिन के अंदर आ गईं. 

दो महिलाओं ने 1971 का युद्ध लड़ चुके कैप्टन की जेब से उड़ाए 40 हजार,  CCTV में कैद हुई घटना
सेना के रिटायर्ड कैप्टन (Retired captain) जब तक कुछ समझ पाते तब तक दोनों महिलाएं फरार हो चुकी थीं

नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) के साउथ डिस्ट्रिक्ट के हौजखास इलाके में दो महिलाओं द्वारा ठगी की हैरान करने वाली घटना (incident) सामने आई है. दो महिलाओं ने पलक झपकते ही भारतीय फौज (Indian Army) के रिटायर्ड कैप्टन की जेब से 40 हजार रुपये उड़ा दिए. कैप्टन नरेंद्र कुमार महाजन 1971 में भारत-पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध (India-Pakistan War) में हिस्सा ले चुके हैं. भारतीय फौज के रिटायर्ड कैप्टन (Retired Captain) नरेंद्र कुमार महाजन पत्नी एस. चंद्रा के साथ रहते हैं जिनका पास के ही सिंडिकेट बैंक (Syndicate bank) में बचत खाता (saving account) है. गुरुवार को उन्होंने बैंक (bank) से 40 हजार रुपये निकाले जिसके बाद दस हजार और निकालने के लिए वह पास के ही एटीएम (ATM) से रुपये निकालने जा पहुंचे. जहां पर उनके पीछे-पीछे दो महिलाएं भी अंदर आ गईं और पलक झपकते ही उनकी जेब से 40 हज़ार रुपए निकाल कर चलती बनी.

यह सारी वारदात एटीएम (ATM) में लगे सीसीटीवी (CCTV) में कैद हो गई. सीसीटीवी में साफ दिखाई दे रहा है कि नरेंद्र महाजन एटीएम में जैसे ही घुसे और उन्होंने अपना कार्ड मशीन में डाला, पीछे से दो महिलाएं एटीएम केबिन के अंदर आ गईं. एटीएम (ATM) में अचानक पहुंची महिलाओं में से एक ने महाजन को बातों में उलझा लिया. इतने में पीछे खड़ी महिला ने महज चंद सेकेंड में महाजन की जेब में मौजूद 40 हजार रुपये निकाले. रुपये हाथ लगते ही दोनों महिलाएं तेज कदमों से एटीएम (ATM) के बाहर निकल गईं और वहां से रफूचक्कर हो गईं.

देखें लाइव टीवी

सेना के रिटायर्ड कैप्टन (Retired captain of the army) जब तक कुछ समझ पाते तब तक दोनों महिलाएं फरार हो चुकी थीं. फिलहाल इस सिलसिले में हौजखास पुलिस (police) ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. लेकिन पुलिस के हाथ अभी तक खाली हैं. पुलिस को आरोपी महिलाओं का कोई सुराग नहीं लगा है.