close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर डिस्कॉम में 43 जूनियर इंजीनियर का हुआ प्रमोशन, दूसरी सूची का इंतजार

राजस्थान विद्युत श्रमिक संघ के अध्यक्ष सीताराम गुप्ता के मुताबिक बिजली विभागों में प्रमोशन तय समय से देरी से चल रहे है. कई बार मांग उठाने के बावजूद अधिकारी मिलने को तैयार नहीं है. 

जयपुर डिस्कॉम में 43 जूनियर इंजीनियर का हुआ प्रमोशन, दूसरी सूची का इंतजार
अन्य कर्मचारियों के मुताबिक बिजली कंपनियों में प्रमोशन में दोहरा रवैया अपनाया जा रहा है.

जयपुर: विभागीय पदोन्नति समिति की सिफारिशों के आधार पर जयपुर डिस्कॉम में कार्यरत 43 कनिष्ठ अभियंताओं को पदोन्नति देकर सहायक अभियंता बनाया गया है. जयपुर डिस्कॉम में 31 कनिष्ठ अभियंता प्रथम एवं 12 कनिष्ठ अभियंता द्वितीय को सहायक अभियंता के पद पर पदोन्नति दी गई है. वहीं, प्रमोशन में देरी और निचली ग्रेड पे के कर्मचारियों की नजरअंदाजी से कार्मिकों में विरोध भी बढ़ रहा है. विद्युत कर्मचारी संगठनों का कहना हैं की प्रमोशन सूचियां अधिकारियों की अधिक आ रही हैं कर्मचारियों को लंबा इंतजार करवाया जा रहा है.

वहीं, अन्य कर्मचारियों के मुताबिक प्रदेश की बिजली कंपनियों में प्रमोशन में दोहरा रवैया अपनाया जा रहा है. अधिकारियों क प्रमोशन की सूचियां तो जारी हो रही हैं, लेकिन कर्मचारियों के प्रमोशन में रवैया सुस्त है. राजस्थान विद्युत श्रमिक संघ और अखिल भारतीय विद्युत मजदूर महासंघ ने बिजली कंपनियों की लेटलतीफी पर नाराजगी जाहिर की है. राजस्थान विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड, राजस्थान विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड, जयपुर, अजमेर और जोधपुर डिस्कॉम सहित बिजली कंपनियों में पदोन्नति का दौर जून माह तक पूरा हो जाना था. इसके बावजूद सितंबर माह तक के केवल पॉवर वाले अधिकारियों की ही प्रमोशन सूची सामने आई है.

राजस्थान विद्युत श्रमिक संघ के अध्यक्ष सीताराम गुप्ता के मुताबिक बिजली विभागों में प्रमोशन तय समय से देरी से चल रहे है. कई बार मांग उठाने के बावजूद अधिकारी मिलने को तैयार नहीं है. पांचों निगमों में अधिकारियों की प्रमोशन सूचियां जारी हैं. लेकिन कर्मचरियों के प्रमोशन सूची में देरी अब नाराजगी का कारण बन रही है.

जबकि विद्युत कर्मचारी संगठनों का कहना है कि अब तक प्रमोशन का दौर पूरा हो जाना चाहिए था, ताकि नए पदभार पर कार्मिक उत्साह से काम कर सकें. बिजली निगम के अधिकारी अपनी सूचियों को तो प्रमुखता से आगे बढ़ा रहे हैं, लेकिन विभागीय प्रमोशन कमेटी कार्मिकों की सूची को आगे नहीं बढ़ा रही है. तकनीकी सहायक, एसबीए, एसएसए, एलएम अभी तक प्रमोशन के इंतजार में हैं.

वहीं, अखिल भारतीय विद्युत मजदूर महासंघ के उपाध्यक्ष मधु सूदन जोशी के मुताबिक विभाग का दोहरा रवैया है. अधिकारियों की प्रमोशन सूचियां तो प्रतिदिन आ रही है, लेकिन कार्मिक अभी भी अपने प्रमोशन की बांट जोह रहे हैं. लंबे समय से विभाग के अधिकारी अपने प्रमोशन तक ही है इससे निचले स्तर पर काम करने वाले कार्मिक प्रभावित हो रहे हैं.

हालांकि, पांचों निगमों में सितंबर माह के अंतिम दिनों में प्रमोशन की कई सूचियां आने की उम्मीद है. विभागीय प्रमोशन कमेटी अधिकतर प्रस्तावों पर विचार कर चुकी है. ऊर्जा महकमा अधिकारियों के प्रमोशन के साथ विभाग के निजीकरण की प्रक्रिया भी तेज करेगा. अगर कार्मिकों के प्रमोशन में ढिलाई बरती गई तो आने वाले दिनों में विरोध प्रदर्शन भी देखने को मिल सकते हैं.