Zee Rozgar Samachar

राजसमंद: 5 नवंबर को नामांकन का आखिरी दिन, निकाय चुनावों के लिए तेज हुईं सरगर्मियां

नाथद्वारा और आमेट में दोनों जगह बीजेपी और कांग्रेस में कांटे की टक्कर देखने को मिल सकती है.

राजसमंद: 5 नवंबर को नामांकन का आखिरी दिन, निकाय चुनावों के लिए तेज हुईं सरगर्मियां
प्रतीकात्मक तस्वीर.

विनीता पालीवाल, राजसमंद: जिले के नाथद्वारा और आमेट नगर पालिका चुनाव की सरगर्मियां तेज हो गई हैं. 5 नवंबर को नामांकन की आखिरी तारीख होने के बाद आज तक संभावित उम्मीदवार अपना नामांकन कर रहे हैं. 

दूसरी तरफ दोनों राजनैतिक दल बीजेपी और कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों के पैनल घोषित नहीं किए हैं. दोनों दल अंतिम दिन नामों की घोषणा करेंगे. दोनों दलों को अपनी-अपनी पार्टियों में बागियों की चिंता ज्यादा सत्ता रही है. इसी को लेकर अब तक नाथद्वारा और आमेट में नामांकन हुए हैं, वह या तो निर्दलीय हैं या फिर उस उम्मीदवार को पार्टी की तरफ से चुनाव का सिग्नल मिल चुका, उसने अपना नामांकन कर दिया है.

बात करें वर्तमान निकाय चुनाव की तो नाथद्वारा और आमेट में दोनों जगह बीजेपी और कांग्रेस में कांटे की टक्कर देखने को मिल सकती है. दोनों जगह वर्तमान में बीजेपी का बोर्ड है, जिसके चलते बीजेपी को जनता के सत्ता विरोधी रुख के साथ काफी समय से पार्टी दो धड़ों में बंटी होने से चुनाव में भीतरघात का खामियाजा भुगतना पड़ सकता है. दूसरी ओर कांग्रेस की राज्य में सरकार होने से लाभ की स्थिति में है.

दोनों जगह की जनता को अपने शहर के विकास के कड़ी से कड़ी जोड़ना पसंद करेगी, जिससे कांग्रेस पार्टी काफी उत्साहित नजर आ रही है. दोनों जगहों पर आम लोगों से बातचीत में मालूम पड़ता है कि दोनों ही जगह कांटे की टक्कर के साथ परिणाम 19, 20 के साथ बोर्ड कांग्रेस बना सकती है. आमेट में कांग्रेस ने अपने बागी और पूर्व में साल 2009 से 14 तक नगर पालिका में निर्दलीय अध्यक्ष रह चुके कैलाश मेवाड़ा को अपनी पार्टी में शामिल करके बीजेपी की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. कैलाश मेवाड़ा का आमेट क्षेत्र में राजनैतिक वजूद है.

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.