पाकिस्तान 1971 के युद्धबंदियों के होने की बात कबूले और उन्हें रिहा करे: अमरिंदर सिंह

अमरिंदर सिंह ने इस बात पर खुशी जाहिर की कि तनाव के बावजूद करतारपुर गलियारे के लिए तौर तरीके तैयार करने के लिए वार्ता चल रही है. 

पाकिस्तान 1971 के युद्धबंदियों के होने की बात कबूले और उन्हें रिहा करे: अमरिंदर सिंह
भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव में बढ़ोतरी के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सीमावर्ती क्षेत्रों का दौरा किया. (फोटो साभार- @capt_amarinder)

गुरदासपुर: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को पाकिस्तान से 1971 के युद्ध के बंदियों के अपने यहां होने की बात कबूलने और उन्हें रिहा करने की अपील की.

अमरिंदर सिंह ने पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव में वृद्धि के आलोक में सीमावर्ती क्षेत्रों के अपने दौरे के दौरान मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान केंद्र सरकार से यह मामला पाकिस्तान के सामने उठाने की अपील की.

इस बीच सिंह ने इस बात पर खुशी जाहिर की कि तनाव के बावजूद करतारपुर गलियारे के लिए तौर तरीके तैयार करने के लिए वार्ता चल रही है. उन्होंने केंद्र से अपील की कि वह इस गलियारे के चालू हो जाने के बाद रोजाना 5,000-10,000 तीर्थयात्रियों को सीमा पार जाने की इजाजत दे.

इस गलियारे के लिए जमीन अधिग्रहण से प्रभावित किसानों के लिए मुआवजे के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार केंद्र के सामने यह मुद्दा उठाएगी. दोनों देशों के बीच तनाव पर सिंह ने लोगों को आश्वासन दिया कि घबराने या डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि सशस्त्र बल स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.

दौरे के दौरान मुख्यमंत्री ने गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक में बीएसएफ की सीमा निरीक्षण चौकी पर जवानों के साथ चाय पी.

(इनपुट - भाषा)