कार्यकर्ताओं से मिले अजित पवार, समर्थकों ने कहा, 'अजित दादा को पूरा विश्वास, BJP जीतेगी फ्लोर टेस्ट'

दोपहर 3 बजे बीजेपी विधायक दल की बैठक होनी है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पार्टी आगे की रणनीति पर चर्चा करेगी.

कार्यकर्ताओं से मिले अजित पवार, समर्थकों ने कहा, 'अजित दादा को पूरा विश्वास, BJP जीतेगी फ्लोर टेस्ट'

मुंबई: महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में सुबह 11.30 सुनवाई होनी है. सुप्रीम सुनवाई से पहले एनसीपी नेता और राज्य के डिप्टी सीएम अजित पवार ने चर्चगेट स्थित अपने घर पर पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की. समर्थकों ने अजित पवार को मिठाई खिलाई. समर्थकों का कहना है कि अजित पवार को विश्वास है कि बीजेपी फ्लोर टेस्ट में पास हो जाएगी. इसके अलावा एनसीपी नेता दिलीप वलसे पाटिल भी अजित पवार से मिलने उनके घर पहुंचे.

वहीं दोपहर 3 बजे बीजेपी विधायक दल की बैठक होनी है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पार्टी आगे की रणनीति पर चर्चा करेगी.

उधर, एनसीपी के वरिष्ठ नेता छगन भुजबल आज सुबह सिल्वर ओक पहुंचे. छगन भुजबल ने कहा कि विधायकों की संख्या 50 तक जाएगी. लेकिन सोचने वाली बात यह है कि 50 तक की संख्या कैसे पहुचेगी? क्योंकि एनसीपी की मिटिंग में बीती रात केवल 42 विधायक पहुंचे थे. ध्यान देने वाली बात यह है कि एनसीपी की बाकी बचे विधायकों से कब बात हुई. जब छगन भुजबल से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कुछ नहीं कहा.

यह भी पढ़ेंः हाराष्ट्र LIVE BLOG: जानिए पल-पल का अपडेट

महाराष्ट्र में शनिवार सुबह अचानक भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार को शपथ दिलाए जाने के खिलाफ शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट रविवार को सुबह 11.30 बजे सुनवाई करेगी. शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस शनिवार शाम सुप्रीम कोर्ट पहुंची और नई सरकार को 24 घंटे के भीतर बहुमत साबित करने का निर्देश देने की अपील की थी.

यह भी पढे़ंः- महाराष्ट्र का सियासी संग्राम: NCP अध्यक्ष शरद पवार से मिलने पहुंचे BJP सांसद संजय काकड़े

भाजपा से नाता तोड़ चुकी पार्टी ने इस मामले में शीर्ष अदालत से आज ही रात याचिका पर सुनवाई करने का अनुरोध करते हुए कहा है कि खरीद-फरोख्त रोकने के लिए महाराष्ट्र सरकार को निर्देश दिया जाए कि वह 24 घंटों के भीतर बहुमत साबित करे. याचिका स्वीकार कर ली गई है और सुनवाई के लिए रविवार को सुबह 11.30 बजे का समय तय किया है.

एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना ने अपनी याचिका में फडणवीस और अजित पवार की शपथ को अवैध ठहराने की मांग की है. इसके अलावा तीनों दलों के गठबंधन को सरकार बनाने के लिए आमंत्रण दिए जाने की कोर्ट से मांग की है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पत्रकारों को बताया, "तीनों राजनीतिक दलों एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना ने शनिवार शाम याचिका दायर करते हुए सुप्रीम कोर्ट से तत्काल बहुमत परीक्षण कराने की अपील की है ताकि देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार के नेतृत्व वाली असंवैधानिक सरकार को एक्सपोज किया जा सके.