close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अजमेर: आदर्श कोऑपरेटिव सोसाइटी पर 8 मुकदमें हुए दर्ज,कई लोगों के पैसे लेकर फरार हुई सोसाइटी

8 परिवादियों के लगभग 27,00,000 रुपये सोसाइटी में जमा कराए गए थे. जिन्हें लेने के लिए जब परिवादी पहुंचे तो दफ्तर ही नहीं मिला. 

अजमेर: आदर्श कोऑपरेटिव सोसाइटी पर 8 मुकदमें हुए दर्ज,कई लोगों के पैसे लेकर फरार हुई सोसाइटी
आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी पर अब तक 47 मुकदमे दर्ज किए गए हैं.

अजमेर: आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसायटी के पदाधिकारियों पर अजमेर में 8 मुकदमे दर्ज हुए हैं. यह मुकदमे अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संख्या 1 योगिता पारीक ने पीड़ित लोगों द्वारा शिकायत पर कोतवाली थाने में दर्ज करने के आदेश दिए हैं. अधिवक्ता अरविंद मीणा ने बताया कि रेलवे में सेवानिवृत्त कर्मचारियों ने अपनी मेहनत की रकम सेवानिवृत्ति के बाद गुजर-बसर करने के लिए आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी में जमा कराई थी. 

8 परिवादियों के लगभग 27,00,000 रुपये सोसाइटी में जमा कराए गए थे. जिन्हें लेने के लिए जब परिवादी पहुंचे तो दफ्तर ही नहीं मिला. इस पर उन्होंने धोखाधड़ी की शिकायत देते हुए न्यायालय से राहत की मांग की है. प्रकरण के अनुसार पीड़ित सुरेश वर्मा के ढाई लाख रुपये, धर्मेंद्र वर्मा के ढाई लाख, राखी सिंह के 3 लाख 20 हजार, पुष्पा भाटी के 3 लाख 50 हजार, मदन भाटी के 4 लाख 20 हजार, जितेंद्र टेकचंदानी की 1 लाख 20 हजार, श्रवण राम शर्मा के 5 लाख, देवकी नंदन के 5 लाख रुपये की एफडी करवाई थी. 

प्रीतो के अनुसार क्रेडिट सोसाइटी ने उनके पैसे सुरक्षित रखने का जिम्मा लिया था. इसके बावजूद भी वह अपना ऑफिस बंद कर फरार हो गई. ऐसे में सभी की आर्थिक स्थिति खराब हो रही है. सभी ने न्यायालय से राहत देने की मांग की है. आपको बता दें कि आदर्श क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी पर अब तक 47 मुकदमे दर्ज किए गए हैं. जिनमें करोड़ों रुपये लोगों के कंपनी में जमा किए गए थे.