मोबाइल टावरों के केबल काटने वाले गिरोह का अजमेर पुलिस ने किया पर्दाफाश

चारों आरोपी चन्द्रप्रकाश, ताराचन्द, गोविन्दराम निवासी रतनगढ जिला चुरू और लक्ष्मण निवासी हनुमानगढ़ को गिरफ्तार कर अन्य वारदातों में भी गहनता से पूछताछ जारी है.

मोबाइल टावरों के केबल काटने वाले गिरोह का अजमेर पुलिस ने किया पर्दाफाश

मनवीर सिंह, अजमेर: जिले की विजयनगर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है. पुलिस ने कार्रावाई में मोबाइल टावरों से दूसरी कम्पनी के फीडर केबल काटने वाली गैंग का पर्दाफाश किया है. पुलिस ने इस कार्रवाई में चार व्यक्तीयों को गिरफ्तार किया है. घटना में प्रयुक्त वाहन को भी पुलिस ने कब्जे में लिया है. 

दरअसल, विजयनगर एसएचओ विजयसिंह रावत ने बताया कि जिला एसपी कुंवर राष्ट्रदीप अजमेर के निर्देश पर पुलिस थाना विजयनगर के द्वारा थाने पर टीम गठित कर मुखबिर की सूचना पर चौसला विजयनगर स्थित लगे टावर स्थल पर दबिश दी  और चोरों को पिकअप के साथ दस्तयाब कर पूछताछ की गई तो चारों मुल्जिमान ने कबूल किया कि चौसला विजयनगर इंदौर दौसा में फीडर केबल काटकर केबल में लगा ताम्बे को निकालकर 400 रूपये प्रतिकिलो के हिसाब से बेचकर आपस में बंटवारा कर लेते हैं.

मुल्जिमानों के द्वारा दिन के समय में गली मोहल्ले में लगे मोबाइल टॉवरों पर ठेकेदारी की आड़ में अपनी कम्पनी का सामान उतारते समय अन्य कम्पनी की फीडर केबल काटकर अपने साथ चोरी कर ले जाते थे और केबल में लगा ताम्बा बेचकर अपने शौक मौज पूरे करते है. 

चारों आरोपी चन्द्रप्रकाश, ताराचन्द, गोविन्दराम निवासी रतनगढ जिला चुरू और लक्ष्मण निवासी हनुमानगढ़ को गिरफ्तार कर अन्य वारदातों में भी गहनता से पूछताछ जारी है. पुलिस टीम में SHO विजयसिंह, ASI इन्द्रसिंह बजरंग त्रिपाठी, रेखराज, प्रियंका नेमीचन्द आदि शामिल थे. हालांकि, पुलिस अब ये भी सुराग ढूंढने में लगी है कि आखिर ये पूरा गिरोह कब से सक्रिय है. और कितने सालों से और किन जगहों पर अब तक वारदातों तो अंजाम दे चुका है. पूरी जानकारी मिलने के बाद तमाम वारदातों का खुलासा होगा. पुलिस की एक टीम अभी भी सुरागों को इकट्ठा करने में जुटी है.

-- संजय यादव, न्यूज डेस्क