close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अलवर थाना फायरिंग मामला: लापरवाही बरतने वाले 2 पुलिसकर्मियोें को किया गया निलंबित

दो कॉन्स्टेबल विजयपाल और रामावतार को सेवा से बर्खास्त कर दिया है. घटना के करीब 72 घंटे बाद यह कार्रवाई की गई है.

अलवर थाना फायरिंग मामला: लापरवाही बरतने वाले 2 पुलिसकर्मियोें को किया गया निलंबित

अलवर: बहरोड़ थाने (Behror Police Station) में फायरिंग (Firing) कर बदमाश पपला गुर्जर को भगा ले जाने के मामले में डीजीपी भूपेंद्र यादव ने पुलिस (Rajasthan Police) की भी संदिग्ध भूमिका मानते हुए पूरे थाने को लाइन हाजिर किया है. जिसके बाद उन्होंने एसएचओ सुगन सिंह और पूर्व सीओ जनेश तंवर के साथ साथ दो कॉन्स्टेबल को भी निलंबित कर दिया है. 

वहीं दो कॉन्स्टेबल विजयपाल और रामावतार को सेवा से बर्खास्त कर दिया है. घटना के करीब 72 घंटे बाद यह कार्रवाई की गई है. वहीं अभी तक पपला की गिरफ्तारी के मामले में पुलिस के हाथ खाली हैं. हालांकि पुलिस ने पपला सहित तीन अन्य बदमाशों को मुंडावर के खरोला गांव में स्कॉर्पियो छोड़ने के बाद तरवाल गांव निवासी दो युवकों द्वारा बाइको से खैरथल फाटक तक छोड़ने वालो को भी हिरासत में लिया है.

साथ ही पपला को जब हिरासत में लिया उस गाड़ी में 31.90 लाख रु भी मिले थे. वह गाड़ी पपला के जीजा विजय के नाम से है. वह रेवाड़ी के इब्राहिमपुर का निवासी है. उसे भी पुलिस ने हिरासत में लिया है. आपको बता दें, 6 सितंबर को सुबह 8 से 9 बजे के बीच कुछ बदमाशों द्वारा पुलिस थाने में फायरिंग की गई थी. जिसके बाद ये बदमाश अपने साथ एक अपराधी को लेकर फरार हो गए थे. हालांकि, घटना के 4 दिन बाद भी पुलिस द्वारा सभी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया है.