close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जम्मू-कश्मीर: भारी बारिश और भूस्खलन के चलते फिर रोकी गई अमरनाथ यात्रा, अब तक 9 श्रद्धालुओं की मौत

जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश और भूस्खलन के चलते एक बार फिर पवित्र अमरनाथ यात्रा रोक दी गई है. मिली जानकारी के अनुसार पहलगाम और बालटाल के रास्तों में भूस्खलन होने के कारण यात्रियों को आगे जाने से रोक दिया गया है. 

जम्मू-कश्मीर: भारी बारिश और भूस्खलन के चलते फिर रोकी गई अमरनाथ यात्रा, अब तक 9 श्रद्धालुओं की मौत
फाइल फोटो.

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश और भूस्खलन के चलते एक बार फिर पवित्र अमरनाथ यात्रा रोक दी गई है. पहलगाम और बालटाल के रास्तों में भूस्खलन होने के कारण यात्रियों को आगे जाने से रोक दिया गया है. मिली जानकारी के अनुसार यात्रा के दौरान अब तक कुल नौ श्रद्धालुओं की मौत हो गई है, जबकि चार लोग घायल हैं. घायलों में एक श्रद्धालु और तीन स्थानीय लोग शामिल हैं. भारी बारिश से रास्ते फिसलन भरे हो गए हैं और जगह-जगह भूस्खलन के कारण मलबा इकट्ठा हो गया है. रास्तों से मिट्टी हटाने का काम तेजी से जारी है. तब तक के लिए यात्रियों को कैंपों में ही रहने का आदेश दिया गया है. पूरी तरह से मलबा हटने और मौसम साफ होने के बाद ही यात्रियों को आगे रवाना किया जाएगा. 

केंद्रिय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार सुबह ट्वीट कर कहा कि, श्री अमरनाथजी यात्रा के दौरान बालटाल मार्ग पर भूस्खलन के कारण बहुमूल्य जिंदगियों के नुकसान से आहत हूं. भगवान उनके परिवार को साहस दे. घायलों के शीघ्र रिकवरी की प्राथर्ना करता हूं. बता दें कि खराब मौसम के चलते बीते शनिवार से यात्रा रुकी हुई थी. मंगलवार को मौसम साफ होने पर यात्रा को शुरू किया गया लेकिन शाम को अचानक मौसम खराब होने पर यात्रा रोक दी गई. मंगलवार को करीब तीन हजार श्रद्धालुओं का चौथा जत्था रवाना किया गया था.

अचानक खराब हुआ मौसम
जानकारी के मुताबिक, मंगलवार की शाम करीब 6 बजे अचानक मौसम खराब हो गया और तेज बारिश होने लगी. तेज बारिश के कारण बालटाल में चार अलग-अलग स्थानों पर भूस्खलन हुए. इनमें से तीन भूस्खलन बालटाल कैंप इलाके में हुए. इसके अलावा एक भूस्खलन अमरनाथ यात्रियों के ट्रेकिंग मार्ग रेल पथरी में हुआ. ऊपर से अचानक मिट्टी और पत्थर गिरने लगे. मलवे के अंदर कई लोग दब गए. सेना और एनडीआरएफ के जवानों ने मलवे में दबे लोगों को बाहर निकाला. घायलों को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया. 

नौ श्रद्धालुओं की मौत
अमरनाथ यात्रा के दौरान नो श्रद्धालुओं की मौत हो गई. बालटाल के रास्ते में मंगलवार को भूस्खलन होने से तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि 4 अन्य गंभीर रूप से घायल हुए हैं. पुलिस ने बताया कि तीन श्रद्धालुओं की मौत भूस्खलन में दबने से हुई, जबकि छह की हृदयाघात और अन्य कारणों से जान चली गई. पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, बालटाल कैंप में आंध्र प्रदेश की थोटा रधनाम (75) और राधाकृष्ण शास्त्री (65) की हृदयाघात से मौत हो गई. घायलों को सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका उपचार किया जा रहा है.

(इनपुट- खालिद हुसैन)