close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तबियत खराब होने के चलते हरियाणा में 3 रैलियों में नहीं पहुंच पाए अमित शाह, अन्य नेताओं ने संभाला मंच

उचाना से प्रत्याशी और पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंदर सिंह की पत्नी प्रेमलता ने कहा कि  2019 का चुनाव हमारे लिए पहले से भी ज्यादा महत्वपूर्ण है

तबियत खराब होने के चलते हरियाणा में 3 रैलियों में नहीं पहुंच पाए अमित शाह, अन्य नेताओं ने संभाला मंच
हिसार के नारनौंद में मंच पर पहुंचे बीजेपी नेता

हिसार: हिसार के नारनोंद में विजय संकल्प रैली में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह नहीं पहुंच पाए. रैली में उनकी जगह केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पीएम कार्यालय में राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने शिरकत की. कैप्टन अभिमन्यु ने मंच से बताया कि अमित शाह की तबियत खराब है, इस वजह से वे रैली में नहीं आ पाए. अमित शाह की हरियाणा में अलग-अलग जगहों पर विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रचार रैली होनी थी. शाह की फतेहाबाद के टोहाना, सिरसा के ऐलनाबाद और हिसार के नारनौंद में रैलियां होनी थी, हालांकि तीनों जगह रैलियां तो हुईं, मगर शाह की जगह अन्य नेताओं ने संबोधित किया.

नारनौंद में हांसी, बरवाला, उचाना और नारनौंद की संयुक्त विजय संकल्प रैली हुई. उचाना से प्रत्याशी और पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंदर सिंह की पत्नी प्रेमलता ने कहा कि  2019 का चुनाव हमारे लिए पहले से भी ज्यादा महत्वपूर्ण है. हमने सबका साथ, सबका काम तो कर लिया अब हमें सबके विकास को जोड़ना है. मनोहर लाल ने तमाम एरिया में विकास करवाया है. अब 4 दिन बचे हैं, कमल के खिले हुए फूल को मुरझाने मत देना. राज्यसभा सांसद डीपी वत्स ने कहा कि 370 को हटाना अपने आप में बड़ी बात है. वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने मंच से फिर एक बार मनोहर सरकार और अबकी बार 75 पार का नारा दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में जूतमपैजार है, इनेलो में घमासान है. जो लोग अपने परिवार को नहीं संभाल सकते वो मेरे हरियाणा की 2 करोड़ जनता के परिवार को कैसे संभालेंगे.

शाह की जगह, पहुंचे तोमर और जितेंद्र सिंह
नारनौंद में केंद्रीय गृह मंत्री की अमित शाह की जगह पीएम कार्यालय से राज्यमंत्री डॉ जितेंद्र सिंह और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर पहुंचे. जितेंद्र सिंह ने कहा कि हम तो केवल आपको याद दिलाने आए हैं कि चुनाव को हल्के में नहीं लेना. उन्होंने कहा कि हरियाणा में भ्रष्टाचार की राजनीति हुई है. पहली बार हरियाणा को बीजेपी सरकार में कलंक से निजात मिली. वहीं, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि अमित शाह ने मुझे उनका संदेश देने के लिए भेजा है. उन्होंने कहा कि वो चुनाव जीतने से पहले या बाद में जरूर यहां आएंगे. हरियाणा के विधानसभा चुनावी रण में माहौल ऐसा है कि चारों तरफ इनेलो, कांग्रेस और जजपा का सूपड़ा साफ है. चारों तरफ कमल का ही झंडा है.

देखें लाइव टीवी

हरियाणा में विपक्ष का सूपड़ा साफ
केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि हरियाणा में एक समय था, जब यहां के किसानों ने अपने पसीने के दम पर 125 करोड़ लोगों का पेट भरा. किसानों ने देश में नाम कमाया, लेकिन हरियाणा में जो नेतृत्व रहा चाहे वो कांग्रेस का हो या इनेलो का इन्होंने हरियाणा को लूटने का काम किया. हरियाणा में बीजेपी ने पुरानी सरकार की परंपरा को बदल दिया. एक समय यहां भर्तियों में पर्ची और खर्ची चलती थी मगर बीजेपी के राज में अब वैसा नहीं है. यहां जनता की चलती है अब. तोमर ने कहा कि यूपीए की सरकार में 2जी घोटाला होता था, लेकिन हरियाणा में जीजा जी घोटाला होता था. राजीव गांधी कहा करते थे कि 100 रुपये भेजते थे, जाते-जाते 15 रह जाते थे. लेकिन अब मोदी राज में ऐसा नहीं होता. हरियाणा में कांग्रेस और जेजेपी के लोग गलत प्रचार कर रहे हैं कि किसानों का कर्ज माफ करेंगे, लेकिन ये माफ तो तब करेंगे जब 5-7 सीट आएगी. हरियाणा में हर दल का टुकड़ा-टुकड़ा हो गया है. जब यूपीए की सरकार थी, तब आतंकवादी हमारे देश के वीरों को मार कर चले जाते थे. तब पीएम मनमोहन से पत्रकार सवाल पूछते तो वो कहते थे कि मैं देख रहा हूं. लेकिन मोदी ऐसा नहीं कहते कि मैं देख रहा हूं, बल्कि मोदी तीनों सेनाध्यक्ष से बात कर उन्हें बदले के लिए कहते हैं. तोमर ने जनता से आह्वान किया कि मनोहर के नेतृत्व में 75 पार कर दोबारा से सरकार बनाएं.