LIVE: यूपी में पुलिस टीम पर हमला, सीओ और एसओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद; सभी बॉर्डर सील

मुठभेड़ के दौरान सीओ और बिठूर थाने के प्रभारी समेत कई पुलिसकर्मियों को गोली लगी है.

LIVE: यूपी में पुलिस टीम पर हमला, सीओ और एसओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद; सभी बॉर्डर सील
Play

कानपुर: उत्तर प्रदेश में कानपुर के बिठूर में बदमाशों ने दबिश देने गई पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी जिसमें सीओ और एसओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. ये घटना शिवली थाना क्षेत्र के विकरू गांव की है जहां देर रात पुलिस दबिश देने गई थी. फायरिंग में 7 पुलिसकर्मी घायल भी हो गए हैं.

ये भी पढ़ें- कौन है ये कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे, जिसे पकड़ने गए 8 पुलिसकर्मी शहीद हुए?

Live अपडेट्स

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, घटना के बाद विकास दुबे स्कॉर्पियो से भागने में कामयाब हो गया.

कानपुर पहुंचे एडीजी (एलओ) प्रशांत कुमार ने कहा, 'पुलिस की तरफ से चूक हुई है. इस मामले की भी जांच होगी. हत्यारे विकास को खोजा जा रहा. कानपुर में जगह-जगह पर छापेमारी हो रही है. विकास दुबे का एक साथी हिरासत में है. सभी बॉर्डर सील कर वाहनों की चेकिंग-की जा रही है.' 

डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने कहा, 'मौके पर अधिकारी पहुंच गए हैं. एसटीएफ भी लगाई गई है. Ak 47 के जो खोखा खोखे मिले हैं, उनकी फॉरेंसिक जांच चल रही है. विकास दुबे को पकड़ने के लिए टीम लगातार सर्च चला रही है.'

मुठभेड़ के दौरान सीओ और बिठूर थाने के प्रभारी समेत कई पुलिसकर्मियों को गोली लगी है. घायल पुलिसकर्मियों का रीजेंसी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है. पुलिस विकास दुबे नामक हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने के लिए विकरू गांव में गई थी. हमलावरों ने छतों से पुलिस पर गोलियां बरसाईं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी और उनके परिजनों के लिए संवेदना व्यक्त की. सीएम योगी ने बदमाशों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. वो अपर मुख्य सचिव और डीजीपी के लगातार संपर्क में हैं.

घायल सिपाही अजय के भाई राहुल की योगी सरकार से मांग. कहा, 'अंग्रेजी हुकूमत के हथियार नहीं चलेंगे. आधुनिक हथियार होते तो पुलिस अफसर और जवानों की जान नहीं जाती.'

मायावती ने घटना की निंदा करते हुए ट्वीट कर कहा,  'कानपुर में शातिर अपराधियों द्वारा एक भिड़ंत में डिप्टी एसपी सहित 8 पुलिसकर्मियों की मौत व 7 अन्य के आज तड़के घायल होने की घटना अति-दुःखद, शर्मनाक व दुर्भाग्यपूर्ण। स्पष्ट है कि यूपी सरकार को खासकर कानून-व्यवस्था के मामले में और भी अधिक चुस्त व दुरुस्त होने की जरूरत है। इस सनसनीखेज घटना के लिए अपराधियों को सरकार को किसी भी कीमत पर छोड़ना नहीं चाहिए, चाहे इसके लिए विशेष अभियान चलाने की जरूरत क्यों न पड़े। सरकार मृतक पुलिस के परिवार को समुचित अनुग्रह राशि के साथ ही परिवार के किसी सदस्य को नौकरी भी दे, बीएसपी की यह मांग है।'

उत्तर प्रदेश के DGP एचसी अवस्थी ने फोन पर बताया, 'विकास दुबे एक शातिर अपराधी है और कानपुर का हिस्ट्रीशीटर भी है. इसके ऊपर 60 मुकदमे दर्ज हैं. कानपुर के राहुल तिवारी नाम के व्यक्ति ने 307 का एक मुकदमा इसके ऊपर दर्ज कराया है. इस पर दबिश डालने के लिए विकरू गांव जो चौबेपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आता है, एक बड़ी पुलिस पार्टी मौके पर पहुंची. पुलिस को रोकने के लिए इन्होंने पहले से ही जेसीबी लगा कर रास्ता रोक रखा था. पुलिस पार्टी के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें पुलिस के 8 लोग शहीद हो गए. इनमें डिप्टी एसपी देवेंद्र मिश्रा, 3 सब इंस्पेक्टर और 4 कांस्टेबल हैं. ये बदमाशों की फायरिंग में शहीद हो गए. घटनास्थल पर ADG लॉ एंड आर्डर पहुंच रहे हैं. एसएसपी और आईजी मौके पर हैं. कानपुर की फोरेंसिक टीम जांच कर रही है. STF भी लगा दी गई है.' 

अपराधियों को पकड़ने के लिए विकास दुबे के करीबियों के 100 से ज्यादा मोबाइल फोन ट्रेस पर लगाए गए हैं. काशी राम निवादा गांग में भी एसटीएफ की टीम पहुंची है, जहां कुछ लोगों को ट्रेस किया गया है.

मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के नाम
1-देवेंद्र कुमार मिश्र, सीओ बिल्हौर
2-महेश यादव, एसओ शिवराजपुर 
3-अनूप कुमार,चौकी इंचार्ज मंधना
4-नेबूलाल, सब इंस्पेक्टर शिवराजपुर 
5-सुल्तान सिंह कांस्टेबल थाना चौबेपुर 
6-राहुल ,कांस्टेबल बिठूर 
7-जितेंद्र,कांस्टेबल बिठूर 
8-बबलू कांस्टेबल बिठूर

समाजवादी पार्टी का बयान
योगी सरकार के जंगलराज में 'हत्या प्रदेश' बने उप्र के कानपुर में दबिश के दौरान सत्ता संरक्षित अपराधियों द्वारा हमले में CO समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद, अत्यंत दुखद! आत्मा को शांति दे भगवान! शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना!1-1 करोड़ ₹ मुआवजे का हो ऐलान। सत्ता कनेक्शन का हो पर्दाफाश!

 

बता दें कि रीजेंसी हॉस्पिटल में भर्ती घायल पुलिसकर्मियों की हालत गंभीर है. पुलिस की टीम चौबेपुर थाना क्षेत्र के विकरू गांव में दबिश देने गई थी जहां बदमाशों ने पुलिस टीम पर जमकर फायरिंग की. मुठभेड़ के दौरान बिठूर थाना प्रभारी कौशलेंद्र प्रताप सिंह समेत कई पुलिसकर्मी को गोली लगी. बदमाश विकास दुबे और उसके साथियों ने पुलिस के कई असलहे को भी लूट लिए.

कानपुर आईजी रेंज मोहित कुमार ने बताया कि 10-15 बदमाशों ने घात लगाकर पुलिस टीम पर हमला किया.

जान लें कि इससे पहले बदमाश विकास दुबे थाने में घुसकर राज्यमंत्री और पुलिसकर्मी सहित कई लोगों की हत्या कर चुका है. एडीजी कानपुर जोन आईजी रेंज, एसएसपी कानपुर समेत कई जिलों की पुलिस फोर्स मौके पर मौजूद है और कॉम्बिंग जारी है. वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए.