close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान की कानून-व्यवस्था पर अब अविनाश पांडे ने भी जताई चिंता, कहा...

राजस्थान में बिगड़े कानून व्यवस्था पर अविनाश पांडे ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति सुधारने की जरूरत है. 

राजस्थान की कानून-व्यवस्था पर अब अविनाश पांडे ने भी जताई चिंता, कहा...
विपक्ष भी लगातार कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठा रहा है.

मनोहर विश्नोई/जयपुर: राजस्थान के डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बाद अब अविनाश पांडे ने भी राजस्थान की कानून व्यवस्था को लेकर चिंता जाहिर की है. राजस्थान में बिगड़े कानून व्यवस्था पर अविनाश पांडे ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति सुधारने की जरूरत है. साथ ही उन्होने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर को लेकर चिंता करने की जरूरत है. 

बता दें कि, सीएम ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर 2 दिन तक पुलिस के आला धिकारियों के साथ कर चुके हैं. साथ ही वह पुलिस अधिकारियों को कानून व्यवस्था के लेकर किसी भी तरह की कोताही बरते जाने पर सजा देने की बात भी कह चुके हैं. 

गौरतलब दै कि सचिन पायलट ने कानून व्यवस्था को हाल ही चिंता जताई थी. सचिन पायलट से मीडिया द्वारा प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर पूछे गए सवाल पर यह बयान दिया था कि यह बात सही है कि कानून व्यवस्था की स्थिति खराब हुई है. अलवर, जयपुर समेत कई जगहों पर कानून व्यवस्था बिगड़ी है, जिसे गंभीरता से लेना चाहिए. 

दूसरी ओर विपक्ष भी लगातार कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठा रहा है. पूर्व गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने भी कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए थे. प्रदेश की कांग्रेस सरकार के शासन में बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था पर निशाना साधते कहा था कि जब से प्रदेश में कांग्रेस सरकार सत्ता में आई है तब से अपराधियों का हौसले बुलंद हैं

कटारिया ने कहा था कि अनुसूचित जाति अत्याचारों में जुलाई, 2018 की तुलना जुलाई, 2019 से की जाये तो 85 प्रतिशत वृद्धि एवं वर्ष 2017 से वर्ष 2019 की तुलना करें तो लगभग 54 प्रतिशत वृद्धि और यदि 7 महीनों (जनवरी-जुलाई, 2018 से जनवरी-जुलाई, 2019 तक) तक तुलना करें तो करीब 43 प्रतिशत अपराधों में बढ़ोतरी हुई है. जबकि जुलाई, 2018 की तुलना जुलाई, 2019 से की जाये तो लगभग 123 प्रतिशत वृद्धि हुई है.