झालावाड़: बैंक में लोन के बदले मैनेजर पर 90 हजार रिश्वत मांगने का आरोप, हंगामा

जिले की झालरापाटन (Jhalrapattan) स्थित विजया बैंक(Vijaya Bank) की शाखा में शुक्रवार को एक ग्राहक ने जमकर हंगामा किया.

झालावाड़: बैंक में लोन के बदले मैनेजर पर 90 हजार रिश्वत मांगने का आरोप, हंगामा
इस पूरे मामले पर झालरापाटन थाना पुलिस तफ्तीश में जुट गई है. (प्रतीकात्मक फोटो)

झालावाड़: जिले की झालरापाटन (Jhalrapattan) स्थित विजया बैंक(Vijaya Bank) की शाखा में शुक्रवार को एक ग्राहक ने जमकर हंगामा किया. इस दौरान बैंक मैनेजर(Bank Manager)पर लोन (Loan) देने की एवज में 90 हजार रुपये रिश्वत(Ransom)लेने का आरोप लगाया.

जिले के सरड़ा थाना क्षेत्र के मानपुरा लोढ़ान निवासी पीड़ित नेमीचंद तंवर ने बताया कि उसने विजया बैंक से 5 लाख रुपए लोन के लिए अप्लाई किया था. जिस पर बैंक मैनेजर नवल किशोर ने उसे 5 लाख रुपये लोन पास करने की जानकारी देते हुए उसके खाते में 4 लाख 15 हजार रुपये नकद राशि जमा करवा दी, और तुरंत ही 90 हजार रुपये लोन पास करवाने की फीस भी ले ली. 

6 लाख की लोन राशि और....
उधर, 90 हजार लेते हुए बैंक मैनेजर ने उसे 6 लाख रुपए और लोन राशि देने का झांसा दिया और रिश्वत के तौर पर राशि वसूल ली. इसके अलावा विजया बैंक के ही दलाल बापू लाल तंवर ने भी लोन पास करवाने हेतु 10 हजार रुपये वसूल लिए. ऐसे में बैंक द्वारा 5 लाख रुपये की लोन राशि में से 4 लाख 15 हजार रुपये ही उसके खाते में जमा हुए. जिसमें से भी कुल 1 लाख रुपये रिश्वत के नाम पर उससे वसूल लिए गए.

पीड़ित बैंक में पैसे मांगने पहुंचा
पीड़ित नेमीचंद अपने पिता के साथ बैंक मैनेजर से 90 हजार रुपये राशि मांगने पहुंचा. जिस पर बैंक मैनेजर द्वारा मुकर जाने के बाद पीड़ित ने झालरापाटन थाने पहुंचकर मामला दर्ज करवा दिया.

पुलिस मामले की कर रही जांच
पीड़ित के पिता ने कहा कि चाहे उसकी जमीन जायदाद बिक जाए. लेकिन वो बैंक में हुई धोखाधड़ी के लिए आखिरी सांस तक कानूनी लड़ाई लड़ेगा. उधर विजया बैंक की शाखा झालरापाटन के मैनेजर नवल किशोर ने पूरे मामले पर अनभिज्ञता जताई और मीडियाकर्मियों से ही रिश्वत लेने के सबूत मांगने लगे. इस पूरे मामले पर झालरापाटन थाना पुलिस तफ्तीश में जुट गई है.