close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भीलवाड़ा: मोबाइल टावर पर चढ़ा सेवानिवृत्त कर्मचारी, रखी यह मांग...

मिठू सिंह 31 अप्रैल को रिटायर्ड हुए थे. उनका पेंशन प्रकरण भी 15 मई को स्वीकृत हो गया. लेकिन सहायक अभियंता द्वारा उनकी एलपीसी जमा नहीं करने के कारण पेंशन राशि नहीं मिल पाई.

भीलवाड़ा: मोबाइल टावर पर चढ़ा सेवानिवृत्त कर्मचारी, रखी यह मांग...
मिठू सिंह जल संशाधन विभाग में चतुर्थश्रेणी कर्मचारी पद पर कार्यरत थे.

भीलवाड़ा: जिले में सेवानिवृत्त कर्मचारी के अपनी मांगों को लेकर मोबाइल टावर पर चढ़ने का मामला सामने आया है. रिटायर्ड कर्मचारी का नाम मिठू सिंह चौहान है. जो जल संशाधन विभाग में चतुर्थश्रेणी कर्मचारी पद पर कार्यरत थे. वह इसी वर्ष 31 अप्रैल को सेवानिवृत्त हुए थे. लेकिन 5 माह बाद भी एलपीसी नहीं मिलने पर अपनी मांगों को लेकर मिठू सिंह को मोबाइल टावर पर चढ़ना पड़ा. 

वहीं, जब मामले की जानकारी पुलिस को दी गई तो पुलिस आनन-फानन में मौके पर पंहुच गई. तमाम कोशिशों के बाद पुलिस ने समझाइश कर मिठू सिंह को नीचे उतारा और वह सभी नियम बताए जिससे उसकी समस्या का हल हो सके.

जानकारी के मुताबिक मिठू सिंह 31 अप्रैल को रिटायर्ड हुए थे. उनका पेंशन प्रकरण भी 15 मई को स्वीकृत हो गया. लेकिन सहायक अभियंता द्वारा उनकी एलपीसी यानी अंतिम वेतन भुगतान प्रमाण-पत्र जारी नहीं करने से पेंशन राशि नहीं मिल पाई. अभियंता ने यह कहते हुये एलपीसी रोक दी कि कर्मचारी, सेवानिवृत्ति के तीन माह बाद सरकारी क्वार्टर में नहीं रह सकता है. सिंह का कहना है कि विभागीय नियमों के अनुसार एलपीसी नहीं रोकी जा सकती है.

उधर, रिटायर्ड कर्मचारी के टावर पर चढ़ने की सूचना पर शहर कोतवाल यशदीप भल्ला मौके पर पहुंचे. करीब आधा घंटे टावर पर रहे चौहान को कोतवाल ने समझाइश कर नीचे उतार लिया.इसके बाद चौहान की विभागीय अधिकारियों से बातचीत करवाई. जहां चौहान को नियम बताये गये तो वे मान गए.मिठू सिंह का कहना है कि वे, अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ (राठौड़) कांग्रेस समर्थित संगठन के जिलाध्यक्ष रह चुके हैं. कांग्रेस सरकार होने के बावजूद उनका काम नहीं हो पाया, जिससे उन्होंने द को लज्जित महसूस किया. हालांकी, उन्होंने विभाग से जल्द से जल्द उनकी पेंशन देने की मांग की है.