close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ओडिशा से राज्यसभा की तीन सीटों पर उपचुनाव के लिए खेमेबंदी जोरों पर

चौथी राज्यसभा सीट पर चुनाव नहीं होगा क्योंकि मोहंती के इस्तीफे से रिक्त हुई इस सीट का कार्यकाल इस साल के अंत तक है. 

ओडिशा से राज्यसभा की तीन सीटों पर उपचुनाव के लिए खेमेबंदी जोरों पर
सामंत और मोहंती लोकसभा के लिए क्रमश: कंधमाल और केंद्रपाड़ा संसदीय सीट से जीत गए हैं और पटनायक एवं देव कंधापाड़ा तथा औल विधानसभा सीटों से विजयी हुये हैं.

भुवनेश्वर: ओडिशा में पांच जुलाई को राज्यसभा की तीन सीटों पर होने वाले उपचुनावों के लिए सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजेडी) में खेमेबंदी जोरों पर है. चुनाव आयोग ने ओडिशा से राज्यसभा की तीन सीटों के लिए पांच जुलाई को उपचुनाव कराने का ऐलान किया है. राज्यसभा जाने के लिए भुवेनश्वर के पूर्व सांसद प्रसन्ना पटसनी, ब्रह्मपुर के पूर्व विधायक रमेश चंद्र छाऊ पटनायक, पूर्व नौकरशाह अमर पटनायक और बालासोर के पूर्व सांसद रबींद जेना तथा बीजेडी के वरिष्ठ नेता प्रफुल्ल घड़ाई के नामों की चर्चा है.

पटसनी और छाऊ पटनायक का कहना है कि उन्हें लोकसभा की टिकट से वंचित किए जाते समय बीजेडी प्रमुख की ओर से आश्वासन दिया गया था कि उन्हें राज्यसभा भेजा जाएगा. बीजेडी के अध्यक्ष मुख्यमंत्री नवीन पटनायक हैं. विधानसभा सचिवालय के एक अधिकारी ने कहा कि राज्य के कोटे की, उच्च सदन में चार सीटें अच्युत सामंत, सौम्य रंजन पटनायक, पीके देब और अनुभव मोहंती के इस्तीफे से खाली हुई हैं. हालांकि, चुनाव आयोग ने तीन सीटों के लिए ही नोटिस जारी किया है.

उन्होंने बताया कि चौथी सीट पर चुनाव नहीं होगा क्योंकि मोहंती के इस्तीफे से रिक्त हुई इस सीट का कार्यकाल इस साल के अंत तक है. सामंत और मोहंती लोकसभा के लिए क्रमश: कंधमाल और केंद्रपाड़ा संसदीय सीट से जीत गए हैं और पटनायक एवं देव कंधापाड़ा तथा औल विधानसभा सीटों से विजयी हुये हैं.