Lockdown में टली शादी, 80 किलोमीटर पैदल चल दूल्हे के घर पहुंची दुल्हन, मंदिर में लिए फेरे

लॉकडाउन की कई बार अवधि बढ़ने से दुल्हन को शादी के दूसरी बार भी स्थगित होने का डर सताने लगा था.

Lockdown में टली शादी, 80 किलोमीटर पैदल चल दूल्हे के घर पहुंची दुल्हन, मंदिर में लिए फेरे

कानपुर: लॉकडाउन ( Lockdown) के कारण शादी टल जाने के बाद दुल्हन 80 किलोमीटर की दूरी तय कर कन्नौज स्थित अपनी ससुराल पहुंच गई. दुल्हन की तुरंत शादी की जिद के आगे झुकते हुए अंततः दोनों परिवारों ने मंदिर में उसकी शादी कराई.

कन्नौज के पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी है कि कानपुर देहात के डेरा मंगलपुर के लक्ष्मण तिलक गांव की रहने वाली लड़की पैदल चलकर शादी के लिए कन्नौज में अपने दूल्हे के घर पहुंची है.

बताया जाता है कि कानपुर देहात के डेरा मंगलपुर की रहने वाली 19 साल की गोल्डी की शादी कन्नौज के तालग्राम के बैसपुर निवासी वीरेंद्र कुमार राठौड़ से तय हुई थी. विवाह चार मई को होना था, लेकिन लॉकडाउन के कारण शादी स्थगित हो गई.

लॉकडाउन की कई बार अवधि बढ़ने से दुल्हन को शादी के दूसरी बार भी स्थगित होने का डर सताने लगा. इस पर उसने दूल्हे के घर जाने का फैसला किया.

ये भी पढ़ें: दिल्ली वालों के लिए जरूरी खबर, सिर्फ इस टर्मिनल से उड़ेंगी फ्लाइट्स

गोल्डी बुधवार को अपने घर से निकली और 80 किलोमीटर पैदल चलकर देर शाम अपने होने वाले पति के घर पहुंची. दुल्हन को अपने दरवाजे पर देख दूल्हे के घरवाले भौचक्के रह गए और उन्होंने उससे घर वापस जाने को कहा. दूल्हे के परिवार वालों ने उसे समझाया और नई तारीख जल्द तय कर शादी का वादा भी किया, लेकिन वह नहीं मानी.

दुल्हन के बिना किसी देरी के शादी कराने के आग्रह को अंततः दूल्हे के परिजनों को मानना पड़ा.

गुरुवार को दोनों परिवारों की रजामंदी से गांव के मंदिर में दोनों की शादी कराई गई.

ये भी देखें: