close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बूंदी: जुलूस निकालने के लिए रास्त बहाल न करने से जैन समाज नाराज, धरने पर बैठे लोग

जैन समाज के लोगों ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर अपना ज्ञापन सौपने की बात कही लेकिन कोई भी अधिकारी मौके पर मौजूद नहीं था. 

बूंदी: जुलूस निकालने के लिए रास्त बहाल न करने से जैन समाज नाराज, धरने पर बैठे लोग

संदीप व्यास, बूंदी: अनंत चतुर्दशी पर नैनवा कस्बे में जैन समाज के जुलूस को पुलिस द्वारा रोके जाने का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा. जैन समाज के लोग पुलिस और नैनवा प्रशासन के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं और जिला कलेक्टर को नैनवा बुलाने की मांग पर अड़े हैं.

समाज के लोग 2 दिन से नैनवा एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना देकर बैठे हुए हैं. जहां जैन मंत्रोच्चारण कर जिला प्रशासन के खिलाफ हल्ला बोल रहे हैं. उनका कहना है कि पुलिस और प्रशासन दोषी अधिकारियों को तुरंत हटाया जाए और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. समाज के लोगों का आरोप है कि अनंत चतुर्दशी पर जैन समाज का जुलूस रोका गया जिससे समाज के लोगों में रोष है. अपना विरोध दर्ज करवाते जैन समाज के महिला पुरुषों ने लोहडी चौहटी स्थित कोटिया जैन मंदिर से मौन जुलूस निकाला और सभी उपखंड कार्यालय पंहुचे. 

जंहा जैन समाज के लोगों ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर अपना ज्ञापन सौपने की बात कही लेकिन कोई भी अधिकारी मौके पर मौजूद नहीं था. जिससे प्रदर्शनकारी नाराज हो गए और वहीं धरने पर बैठ गए. समाज के लोगों ने मांग की डीएम या एसपी उनका ज्ञापन लेने के लिए मौंके पर आए ऐसा नहीं होने पर लगातार धरने की चेतावनी भी जैन समाज के लोगों ने दी.

दरअसल, पर्युषण पर्व के समापन के दिन जैन समाज के जुलूस के लिए रास्ता बहाल नहीं किया गया जिससे लोग नाराज हैं. समाज के लोग रास्ता बहाल करने में नाकाम रहे. पुलिस उपाधीक्षक और थानाधिकारी पर कार्रवाई की मांग पर अड़े हैं. जानकारी के मुताबिक शांति समिती और सीएलजी सदस्यों की बैठक में फैसला लिया गया था की जुलूस के लिए शाम 5 बजे रास्ता बहाल करना था लेकिन अधिकारी ऐसा नहीं कर सके.