close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर में भी CA कर रहे प्रदर्शन, आईसीएआई परीक्षा में री-चेकिंग शुरू करने की है मांग

इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया, आईसीएआई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स की मांग है कि आईसीएआई की ओर से सीए परीक्षाओं की कॉपियां सही से चेक नहीं की जाती हैं. 

जयपुर में भी CA कर रहे प्रदर्शन, आईसीएआई परीक्षा में री-चेकिंग शुरू करने की है मांग
सीए छात्रों के समर्थन में राहुल गांधी के आने के बाद आंदोलन को बल मिला है.

अंकित तिवाड़ी, जयपुर: राजस्थान के जयपुर सहित देशभर के हजारों सीए स्टूडेंट्स इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया, आईसीएआई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. सीए स्टूडेंट्स का कहना है कि सीए फाइनल और अन्य परीक्षाओं की कॉपियां सही तरीके से नहीं जांची जा रही हैं. प्रदर्शन कर रहे छात्रों की मांग है कि सीए एग्जाम की कॉपियां जांचने के दौरान आईसीएआई पारदर्शिता बनाए और कॉपी जांचने की प्रणाली को सही करें, ताकि छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ रोका जाए. आंदोलनकर्ता छात्रों का समर्थन कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर किया है.

जयपुर स्थित सीए संस्थान के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्रों का कहना है कि उन्हें यह अधिकार भी नहीं है कि वो अपनी उत्तर पुस्तिका को वापस चेक करा सकें. वो सिर्फ अपनी उत्तर पुस्तिका मंगवा सकते हैं लेकिन उसमें आईसीएआई की तरफ से जांच में गलतियां हो रही हैं जो उनकी जांच नहीं करवा सकते. इसलिए राइट टू इवेल्यूशन की मांग कर रहे हैं ताकि वो अपनी कॉपी दोबारा से जांच करा सकें. यह पहली बार है कि सीए प्रोफेशन के स्टूडेंट्स अपने अधिकारों की मांग के लिए सड़क पर उतरे हैं. 23 सितंबर से जयपुर समेत अन्य शहरों में विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं. अगर 25 सितंबर तक सुनवाई नहीं की जाती है तो सभी छात्र दिल्ली में वाणिज्य मंत्रालय के सामने धरना प्रदर्शन करेंगे.

इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया, आईसीएआई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स की मांग है कि आईसीएआई की ओर से सीए परीक्षाओं की कॉपियां सही से चेक नहीं की जाती हैं. आईसीएआई की एग्जाम कॉपियां जांचने की प्रणाली से हजारों सीए स्टूडेंट्स नाखुश हैं. इनका आरोप है कि पिछले महीने आए सीए फाइनल रिजल्ट में पांच सौ से ज्यादा स्टूडेंट्स की कॉपियां चेक करने में गड़बड़ी पाई गई थी. 

उन्हें इसके खिलाफ ऑब्जेक्शन उठाने का अधिकार तक नहीं है. इनका यह भी आरोप हैं कि सीए परीक्षाओं की कॉपियां इंस्टीट्यूट से बाहर चेक होने जाती हैं. प्रैक्टिस कर रहे चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ये कॉपियां चेक करते हैं. इस दौरान आईसीएआई द्वारा निगरानी नहीं रखी जाती है. कई बार तो कॉपी चैक करने वाले सीए खुद अपने आर्टिकलशिप कर रहे छात्रों से ही एग्जाम कॉपियां चेक करवा देते हैं. जिससे गलतियां होना लाजमी है.

सीए छात्रों के समर्थन में राहुल गांधी के आने के बाद आंदोलन को बल मिला है. अब तक आईसीएआई छात्रों के आरोपों को नकारती रही हैं, लेकिन तेज होते विरोध को देखकर इस बारे में पुर्नविचार करना होगा. सीए छात्रों का 25 सितंबर को वाणिज्य मंत्रालय कूच नहीं हो इसके लिए आईसीएआई कोशिश में जुटा हैं