close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

1993 बम विस्फोट : मुख्य आरोपी के खिलाफ CBI ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की

सूत्रों के मुताबिक धमाकों को अंजाम देने से पहले अहमद शेख दाऊद इब्राहिम और उसके भाई अनीस इब्राहिम से लगातार संपर्क में था.

1993 बम विस्फोट : मुख्य आरोपी के खिलाफ CBI ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की
फाइल फोटो

मुंबईः 1993 सीरियल बम धमाकों के मामले में सीबीआई ने आरोपी अहमद कमल शेख अहमद लंबू के खिलाफ अदालत में सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर की. गौरतलब है कि 1993 बम धमाकों के मामले में वांटेड आरोपी अहमद शेख को इसी साल जून में गुजरात एटीएस ने वलसाड से गिरफ्तार कर सीबीआई को सौंपा था.

सूत्रों के मुताबिक धमाकों को अंजाम देने से पहले अहमद शेख दाऊद इब्राहिम और उसके भाई अनीस इब्राहिम से लगातार संपर्क में था. वह बम धमाकों से ठीक 2 महीने पहले साजिश रचने के लिए दुबई में आयोजित मीटिंग का हिस्सा भी था जिसमें अन्य आरोपी भी मौजूद थे. इस मीटिंग के बाद अहमद शेख दुबई से पाकिस्तान गया जहां उसे हथियार बनाने और उन्हें चलाने की ट्रेनिंग दी गई.

साल 1995 में अहमद शेख तब देश छोड़कर दुबई भाग गया जब उसे पता चला कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में से एक ने अपने कबूलनामें में अहमद शेख के नाम का खुलासा कर दिया है. दुबई पहुंचने पर उसे एक और फरार आरोपी मोहम्मद दोसा ने फर्जी पासपोर्ट, अरब एमिरेट्स का रेसिडेंट वीजा और दुबई में सेल्समैन की एक नौकरी दिलाने में मदद की. 

इसके बाद साल 2011 में फर्जी पासपोर्ट की मदद से अहमद शेख अपनी पहचान बदलकर भारत लौट कर आया और तब से लेकर अब तक वह मुंबई की अलग-अलग ठिकानों में अपने परिवार के साथ किराए के मकान में रह रहा था.

अयोध्या में विवादित ढांचे को गिराए जाने के कुछ महीनों बाद मार्च 12 1993 को मुंबई सिलसिलेवार बम धमाकों से दहल गई थी जिसमें 257 लोगों की मौत हुई और 700 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे. इससे पहले सीबीआई ने 4 नवंबर 1993 में दस हजार पन्नों की 189 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट फाइल की थी और इसी के बाद यह मामला सीबीआई को सौंप दिया गया था.