close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: पुष्य नक्षत्र पर मोतीडूंगरी गणेश मंदिर में उमड़ी भक्तों की भीड़, चढ़ाए गए मोदक

छोटीकाशी जयपुर(Jaipur) में पुष्य नक्षत्र पर मोतीडूंगरी गणेश मंदिर(Motidungri Ganesh Temple) में पंचामृत अभिषेक हुआ. यहां के अलावा जयपुर के कई गणेश मंदिरों में भी भगवान श्रीगणेश की मनुहार होती रही.

जयपुर: पुष्य नक्षत्र पर मोतीडूंगरी गणेश मंदिर में उमड़ी भक्तों की भीड़, चढ़ाए गए मोदक
जयपुर का मोतीडूंगरी गणेश मंदिर.

जयपुर: छोटीकाशी जयपुर(Jaipur) में पुष्य नक्षत्र पर मोतीडूंगरी गणेश मंदिर(Motidungri Ganesh Temple) में पंचामृत अभिषेक हुआ. यहां के अलावा जयपुर के कई गणेश मंदिरों में भी भगवान श्रीगणेश की मनुहार होती रही. इस दौरान मंदिरों में अथर्व शीर्ष के पाठों से प्रथम पूज्य श्रीगणेश को मोदक अर्पित किए.

इस मौके पर भक्तों ने गणपति स्त्रोत, गणपति अष्टोत्तरशत नामावली पाठों से भगवान गणेश की विशेष पूजा की. मोतीडूंगरी गणेश मंदिर में महंत कैलाश शर्मा के सानिध्य में 251 किलो दूध, 21 किलो दही, सवा पांच किलो घी, 21 किलो बूरा, शहद , केवड़ा जल, गंगाजल आदि से पंचामृत अभिषेक किया गया. 

जयपुर के नहर के गणेशजी, श्वेत सिद्धि विनायक मंदिर, गणेश पीठ की ओर से चांदपोल बाजार के खेजड़ों का रास्ता के गणेश मंदिर में गणेश जी का गुलाब, केवड़ा जल से अभिषेक किया गया. साथ ही नवीन पोशाक धारण करवाकर गणेश जी को फूलों के बंगले में विराजमान किया गया.